ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशRemal Cyclone: समंदर में दिखा रेमल चक्रवात का भयंकर रूप, डराने वाला वीडियो आया सामने

Remal Cyclone: समंदर में दिखा रेमल चक्रवात का भयंकर रूप, डराने वाला वीडियो आया सामने

रेमल चक्रवात रविवार रात ही तट पर पहुंच गया। पश्चिम बंगाल में चक्रवात ने भारी तबाही मचाई है। वहीं मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट भी जारी किया है।

Remal Cyclone: समंदर में दिखा रेमल चक्रवात का भयंकर रूप, डराने वाला वीडियो आया सामने
bangladesh-weather-cyclone-4 jpg
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताMon, 27 May 2024 09:30 AM
ऐप पर पढ़ें

बंगाल की खाड़ी से उठे रेमल चक्रवात ने पश्चिम बंगाल, असम और बांग्लादेश में खूब तबाही मचाई है। पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना समेत सात जिलों मे तेज हवाओं के साथ बारिश ने कहर बरपाया। कई जगहों पर बड़े-बड़े पेड़ धराशायी हो गए। वहीं कोलकाता में सड़कों पर जलभराव देखा जा रहा है। कोलकाता में भारी बारिश का अलर्ट भी जारी किया गया है। जानकारी के मुताबिक आधी रात तूफान ने  लैंडफाल किया। इसके बाद तटीय इलाकों में 135 किलोमीटर की रफ्तार वाली तेज हवा के साथ भयंकर बारिश होने लगी। 

इसी बीच रेमल चक्रवात के बनने का एक वीडियो सामने आया है। डेली स्टार के इस वीडियो में देखा जा सका है कि समंदर के ऊपर किस तरह चक्रवात अपना भयंकर रूप ले रहा है। यह वीडियो डरावना भी लगता है। नीचे मीलों तक फैला समंदर और ऊपर गोल-गोल घूमते घने बादल। देखकर लगता है कि जैसे कोई बड़ी उड़न तश्तरी समंदर पर उतरने की कोशिश कर रही हो। बताया जा कहा है कि यह वीडियो चट्टोग्राम तट का है। हालांकि लाइव हिन्दुस्तान वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। 

रेमल चक्रवात के चलते मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल और असम में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा तटीय इलाकों से कम से कम 1 लाख लोगों को निकाला गया है। रविवार को रात करीब 9 बजे रेमल चक्रवात ने बंगाल और बांग्लादेश में लैंडफाल किया था। इका लैंडफाल पॉइंट सागर द्वीप और खेपुपाड़ा के बीच था जो कि कोलकाता से लगभग 100 किलोमीटर दूर है। 

कोलकाता में 23.9 मिलीमीटर बारिश होने के बाद जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। वहीं मौसम विभाग ने सोमवार को 70 से 110 मिलीमीटर बारिश की भविष्यवाणी की है। रेल, सड़क और हवाई यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है जानकारी के मुताबिक चक्रवात की वजह से 394 उड़ानों पर फर्क पड़ा है। इसके अलावा पूर्वी और दक्षिण पूर्वी रेलवे ने कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है।