DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'केन्द्र से न खेले 'आप', मेट्रो के चौथे चरण का दिल्ली में शुरू होने दे काम'

the centre and the state government are equal shareholders in dmrc   photo by sonu mehta  hindustan

केन्द्र ने आम आदमी पार्टी से कहा है कि दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन को चौथे चरण की परियोजना के अंतर्गत राष्ट्रीय राजधानी में तीन नए कॉरिडोर पर काम शुरू करने दे। क्योंकि, पहले ही इन पर करीब चार साल से ज्यादा की देरी हो चुकी है।

अरविंद केजरीवाल सरकार ने पिछले महीने दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) से कहा था कि केन्द्र की तरफ से मार्च में मंजूरी दिए गए नए कॉरिडोर्स पर काम करना तब तक रोके जब तक कि केन्द्र राज्य सरकार की तरफ से प्रस्तावित छह कॉरिडोर पर स्वीकृति को रिवाइज नहीं करती है।

ये भी पढ़ें: मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर की सुविधा चुनावी पैंतरा : 'मेट्रोमैन'

'वरीयता' के आधार पर ये तीन कॉरिडोर है- एयरोसिटी से तुगलकाबाद, आर.के. आश्रम से जनकपुरी वेस्ट और मौजपुर से मुकुंदपुर। इसकी लागत करीब 25 हजार करोड़ के बताई जा रही है। इससे दिल्ली में 61 किलोमीटर मेट्रो का और विस्तार होगा।

केन्द्र और दिल्ली सरकार डीएमआरसी का बराबर का अंशधारक है।

दिल्ली सरकार को लिखे खत में यूनियन हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स सेक्रेटरी दुर्गा शंकर मिश्रा ने साफतौर पर ये कहा कि ऐसा नहीं होगा और चीफ सेक्रेटरी विजय कुमार देव से कहा कि वह रोक को हटाए।

शंकर ने जो पत्र लिखा है उसकी एक कॉपी हिन्दुस्तान टाइम्स ने देखी है, इसमें यह लिखा गया है- “जीएनसीटीडी की तरफ से डीएमआरसी को चौथे चरण पर काम शुरू न करने के निर्देश से राजधानी में मेट्रो नेटवर्क के विस्तार को अधर में डाला जा रहा है।”

ये भी पढ़ें: दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर के लिए करना होगा इंतजार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:tells Delhi to end embargo on Metro Phase 4 Centre wont play along with AAP