ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देश12वीं तक पढ़ाई, पेशे से बिजनेसमैन; KCR और रेवंत रेड्डी को हराने वाले वेंकट रमण रेड्डी कौन

12वीं तक पढ़ाई, पेशे से बिजनेसमैन; KCR और रेवंत रेड्डी को हराने वाले वेंकट रमण रेड्डी कौन

तेलंगाना में कांग्रेस की जीत और बीआरएस के दूसरे नंबर पर आने के बीच भाजपा का एक उम्मीदवार काफी ज्यादा चर्चा में है। इस उम्मीदवार ने कुछ ऐसा काम किया है कि हर कोई इसके बारे में जानना चाहता है।

12वीं तक पढ़ाई, पेशे से बिजनेसमैन; KCR और रेवंत रेड्डी को हराने वाले वेंकट रमण रेड्डी कौन
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,हैदराबादSun, 03 Dec 2023 11:05 PM
ऐप पर पढ़ें

तेलंगाना में कांग्रेस की जीत और बीआरएस के दूसरे नंबर पर आने के बीच भाजपा का एक उम्मीदवार काफी ज्यादा चर्चा में है। इस उम्मीदवार ने काम ही कुछ ऐसा किया है कि हर कोई इसके बारे में जानना चाहता है। असल में इस भाजपा उम्मीदवार का नाम है कटिपल्ली वेंकट रमण रेड्डी, जिसने बीआरएस अध्यक्ष केसीआर और कांग्रेस प्रदेश प्रमुख रेवंत रेड्डी दोनों को मात दी है। इन तीनों का मुकाबला कामारेड्डी विधानसभा सीट पर था जहां रमन रेड्डी ने 6741 वोटों से जीत दर्ज की। रमन रेड्डी को 66652 वोट मिले, जबकि दूसरे नंबर पर रहने वाले केसीआर ने 59911 वोट हासिल किए। वहीं, तीसरे नंबर पर रहने वाले रेवंत रेड्डी को 54916 वोट मिले।

पेशे से बिजनेसमैन
53 वर्षीय वेंकट रमण रेड्डी पेशे से बिजनेसमैन हैं और उन्होंने मात्र 12वीं तक पढ़ाई की है। उन्होंने राजनीति की शुरुआत कांग्रेस से की थी। यह साल 2004 था जब अविभाजित आंध्र प्रदेश के निजामाबाद जिले से उन्होंने मंडल क्षेत्रीय परिषद का चुनाव जीता था। इसके बाद वह जिला परिषद अध्यक्ष बने। हालांकि बाद में रमण केसीआर के साथ चले गए थे। बाद में साल 2018 में वेंकट ने भाजपा का दामन थामा और 2018 में विधानसभा चुनाव भी लड़ा। लेकिन चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा और वह तीसरे स्थान पर रहे। 

जीत के लिए बनाई थी सटीक रणनीति
हार के बाद वेंकट ने नए सिरे से अपनी लड़ाई शुरू की और किसानों के मुद्दों पर काम करने लगे। उन्होंने कामा कामारेड्डी टाउन ड्राफ्ट मास्टर प्लान के खिलाफ किसानों का जमकर साथ दिया। इसके अलावा पिता के नाम पर ट्रस्ट बनाकर लोगों की सेवा में जुटे रहे। उन्होंने स्कूल-कॉलेजों में भी जी खोलकर दान भी दिया। इसके अलावा उन्होंने अपना घोषणापत्र जारी करके हर गांव के लिए योजना बताई थी। माना जा रहा है कि उनके इसी दांव ने उन्हें केसीआर और रेवंत रेड्डी से आगे कर दिया। उन्होंने इन दोनों को बाहरी बताया और दोनों को ही शिकस्त दे डाली।

49.7 करोड़ की संपत्ति
अगर संपत्ति की बात करें तो चुनावी घोषणापत्र के मुताबिक वेंकट रेड्डी की कुल संपत्ति 49.7 करोड़ रुपए है। इसमें 2.2 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति है। उनकी कुल घोषित आय 9.8 लाख रुपये है, जिसमें से 4.9 लाख रुपये स्वयं की आय है। कटिपल्ली वेंकट रमन्ना रेड्डी पर कुल 58.3 लाख रुपये की देनदारियां हैं, जबकि उनके खिलाफ 11 आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें