Tatkal Rail Tickets Scam: CBI writes to US and russia for information about server used for tickets book - तत्काल टिकट घोटाले का विदेशी लिंक: US और रूस के सर्वर से होती थी बुकिंग DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तत्काल टिकट घोटाले का विदेशी लिंक: US और रूस के सर्वर से होती थी बुकिंग

सीबीआई ने तत्काल रेल टिकट घोटाले में इंटरपोल के माध्यम से यूएस तथा रूस ऑथरिटी को उनके सर्वर के बारे में जानकारी देने के लिए एक पत्र लिखा है। तफ्तीश में पता चला है कि इस घोटाले के मास्टरमाइंड अजय गर्ग ने यूएस का सर्वर तथा मेल आईडी के लिए रशिया की बेवसाइट का इस्तेमाल किया था।

रेलवे में 1.3 लाख सुरक्षा से जुड़े पद रिक्त,65 हजार पदों पर भर्ती जल्द

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि आरोपी सहायक प्रोग्रामर अजय गर्ग से पूछताछ के दौरान अनेक जानकारी मिल रही है। पूछताछ में यह भी पता चला है कि उसने जो सॉफ्टवेयर तैयार किया उसे ‘नियो’ नाम दिया था। उसने बताया कि यूएस तथा रशिया के सर्वर इस्तेमाल करने के पीछे उसका मकसद यह था कि एक तो उसके काम को हाई स्पीड मिल सकेगी और दूसरा वह किसी भी एजेंसी की पकड़ में आने से बच सकता है। उसके द्धारा तैयार किये गए सॉफ्टवेयर को उसके दिये गए पासवर्ड के जरिये की ऑपरेट किया जा सकता था। रेल टिकट बुक करने वाले एजेंटों से सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करने के एवज में एक हजार से 1200 रुपये लेते थे। 

IRCTC के फर्जी सॉफ्टवेयर से करते थे टिकट बुक, देशभर में 14 जगह छापे, CBI अधिकारी अरेस्ट

सूत्रों ने बताया कि आईआरसीटीसी अधिकारियों से कहा गया है कि उनके सॉफ्टवेयर से अब कितने टिकट बुक  हुए हैं। आरोपी अजय गर्ग तथा अनिल गुप्ता का आमना सामना कराया गया और एजेंटों के बारे में भी जानकारी हासिल की गई। याद रहे कि सीबीआई ने अपने ही विभाग में तैनात सहायक प्रोग्रामर अजय गर्ग को गिरफ्तार किया है। सीबीआई में कार्य करने से पहले वह आईआरसीटीसी में काम करता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tatkal Rail Tickets Scam: CBI writes to US and russia for information about server used for tickets book