ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशचंद्रबाबू नायडू से एयरपोर्ट पर मिले INDIA के सहयोगी स्टालिन, सरकार बनने से पहले ही कर दी ये मांग

चंद्रबाबू नायडू से एयरपोर्ट पर मिले INDIA के सहयोगी स्टालिन, सरकार बनने से पहले ही कर दी ये मांग

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 240 सीटें मिली हैं जो पूर्ण बहुमत से 32 सीटें कम हैं। ऐसे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू का समर्थन अगली सरकार के गठन के लिए महत्वपूर्ण है।

चंद्रबाबू नायडू से एयरपोर्ट पर मिले INDIA के सहयोगी स्टालिन, सरकार बनने से पहले ही कर दी ये मांग
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 05 Jun 2024 10:55 PM
ऐप पर पढ़ें

MK Stalin met Chandrababu Naidu: तमिलनाडु के मुख्यमंत्री व विपक्ष गठबंधन INDIA के सहयोगी एमके स्टालिन ने दिल्ली एयरपोर्ट पर तेलुगु देशम पार्टी (TDP) सुप्रीमो एवं आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू से मुलाकात की। इस मुलाकात से कुछ घंटे पहले ही चंद्रबाबू नायडू ने स्पष्ट किया है कि वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का हिस्सा हैं। आंध्र प्रदेश से 16 सीटें जीतने वाली TDP केंद्र में सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाएंगी।

चंद्रबाबू नायडू से मुलाकात के बाद स्टालिन ने कहा कि उन्होंने आंध्र प्रदेश के नेता को बधाई दी है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, "मैंने उन्हें अपनी शुभकामनाएं दीं और उम्मीद जताई कि हम तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश जैसे भाईचारे वाले राज्यों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए सहयोग करेंगे। मुझे विश्वास है कि वह केंद्र सरकार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे, दक्षिणी राज्यों की वकालत करेंगे और हमारे अधिकारों की रक्षा करेंगे।"

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के अनुसार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 240 सीटें मिली हैं जो पूर्ण बहुमत से 32 सीटें कम हैं। ऐसे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू का समर्थन अगली सरकार के गठन के लिए महत्वपूर्ण है। NDA के प्रमुख सहयोगी एन चंद्रबाबू नायडू की तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और नीतीश कुमार की जद(यू) ने आंध्र प्रदेश और बिहार में क्रमशः 16 और 12 सीटें जीतीं। इन दोनों, तथा अन्य गठबंधन सहयोगियों के समर्थन से, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।

पहले कहा जा रहा था कि इंडिया गठबंधन के नेता इन दोनों पार्टियों से संपर्क साध रहे हैं। शिवसेना नेता संजय राउत ने बुधवार को कहा कि तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू और जद (यू) अध्यक्ष नीतीश कुमार को तय करना होगा कि वे ‘तानाशाह’ के साथ हाथ मिलाना चाहते हैं या नहीं। पत्रकारों से बात करते हुए राउत ने कहा कि अगर कांग्रेस नेता राहुल गांधी विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ ('इंडिया') की सरकार का नेतृत्व करने और प्रधानमंत्री पद का चेहरा बनने का फैसला करते हैं तो उनकी पार्टी इसका विरोध नहीं करेगी।

Advertisement