DA Image
21 जनवरी, 2020|4:54|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लग्जरी लाइफ छूटी, अब मुश्किल डगर पर चले चिन्मयानंद, पढ़ें सिलसिलेवार घटनाक्रम

                                                                                                                                                                                      -

Swami Chinmayananda Arrested: यौन शोषण का आरोप लगने व अश्लील वीडियो क्लिप वायरल होने के बाद बुरे दौर से गुजर रहे कद्दावर.. रसूखदार नेता स्वामी चिन्मयानंद अब सलाखों के पीछे हैं। कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। छात्रा के साथ यौन शोषण के मामले में एसआईटी ने उन्हें गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। स्वामी चिन्मयानंद के अश्लील  वीडियो के बदले 5 करोड रुपए मांगने के आरोप में एलएलएम छात्रा के साथी संजय सिंह, उसके चचेरे भाई विक्रम और मौसेरे भाई सचिन सेंगर को भी एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस तीनों का मेडिकल करा रही है। इसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा और वहां से जेल भेजा जाएगा।

आरोप लगने से पहले चिन्मयानंद की एक अलग साख थी। भाजपा में उनका कद बहुत ऊंचा था। केंद्रीय मंत्री की जिम्मेदारी संभाल चुके चिन्मयानंद ने गलती की है या नहीं इसका पता तो बाद में चलेगा लेकिन उनका सियासी सफर अब खत्म सा प्रतीत होने लगा है। भाजपा नेताओं ने भी उनके बारे में बात करना बंद कर दिया है। दामन पर लगे दागों को झुठलाते आ रहे चिन्मयानंद पर सुप्रीम कोर्ट की भी पैनी नजर है। पीड़िता की सुरक्षा के लिए दायर की गई अर्जी के बाद से सुप्रीम कोर्ट इस यौन शोषण प्रकरण पर विशेष तौर से नजर बनाए हुए है। मामला सुर्खियों में तब आया जब बीते अगस्त माह में एलएलएम छात्रा (LLM student) एसएस लॉ कालेज (SS Law College) के हास्टल से लापता हो गई। आइए सिलसिलेवार तरीके से जानते हैं केस से जुड़ी सभी मुख्य कड़ियों को...

पहले लगा अपहरण का आरोप

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती पर पहले अपहरण का आरोप लगा था। उनके ही कॉलेज में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने उनपर आरोप लगाए थे। आरोप लगने के बाद चिन्मयानंद ने चुप्पी साध ली थी। उन्होंने बातचीत करने से साफ इनकार कर दिया था। हां उन्होंने इतना जरूर बोला कि जो भी उनको बोलना होगा वह शाहजहांपुर जाकर बोलेंगे। चिन्मयानंद के खिलाफ छात्रा के पिता ने शिकायत की थी। पीड़ित पिता ने बताया था कि उनकी बेटी 23 अगस्त से ही हॉस्टल से गायब है। वहीं, 24 अगस्त को ही छात्रा ने सोशल मीडियो पर एक वीडियो वायरल कर चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए थे। उसी के बाद से छात्रा लापता थी। छात्रा के परिजनों ने अपनी जान का भी खतरा बताया था। जिसके बाद शाहजहांपुर पुलिस ने परिजनों को सुरक्षा मुहैया कराई थी।

लगते रहे हैं आरोप

पूर्व मंत्री पहले भी विवादों में फंसे हैं। उनकी शिष्या ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया था। हालांकि उस मामले में स्वामी चिन्मयानंद ने गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट से स्टे लिया था। इसके बाद वर्ष 2015 में भी महिला के साथ मारपीट में चिन्मयानंद का नाम प्रकाश में आया था।

स्वामी-छात्रा की कहानी में कैसे हुई संजय की एंट्री

स्वामी चिन्मयानंद(Chinmayanand) प्रकरण में एसआईटी (SIT) ने स्वामी चिन्मयानंद, एसएस कालेज (SS college) और एसएस लॉ कालेज (SS Law college) के प्राचार्यों से पूछताछ की थी। पुलिस लाइन में एसएस कालेज के प्राचार्य डा. अवनीश मिश्रा और एसएस लॉ कालेज के प्राचार्य संजय बरनवाल को एसआईटी ने बुलाया था। दोनों प्राचार्य वहां एसआईटी के सामने पेश हुए। एक-एक कर दोनों लोगों से अकेले में सवाल किए गए। पहले संजय बरनवाल को बुलाया गया। सूत्रों के अनुसार उनसे छात्रा और कालेज के कार्यों के बारे में पूछा गया। इस दौरान चिन्मयानंद से संजय की एंट्री कैसे हुई, छात्रा कैसे बगावत पर उतरी, फिर कैसे ब्लैकमेलिंग की कोशिश शुरू हुई, संजय से फोन पर क्या बात हुई....तमाम बातें उनसे पूछी गईं। स्वामी चिन्मयानंद से कई घंटे तक पूछताछ हुई। 

आरोप लगने के 12वें दिन बाद सामने आए चिन्मयानंद, सफाई में बहुत कुछ बोले

एलएलएम छात्रा द्वारा गंभीर आरोप लगाए जाने के 12वें दिन शाहजहांपुर (Shahjahanpur case) में पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद (swami Chinmayanand) मीडिया के सामने आए। बोले कि उनकी छवि को कलंकित और प्रभावित करने की कोशिश की गई है। अब एसआईटी जांच में सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। बोले कि सुप्रीम कोर्ट  ने जो भी डायरेक्शन दिए हैं, वह उससे संतुष्ट और खुश हैं। उन्होंने अपने ही कॉलेज के कुछ लोगों पर पूरी साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया। स्वामी चिन्मयानंद ने कहा कि पिछली बार जब उनके लॉ कॉलेज में एलएलएम मान्यता के लिए नैक की टीम परीक्षण कर रही थी, तब इसी कॉलेज के कुछ लोगों के इशारे पर बाधा डालने की कोशिश की गई थी। उस वक्त धरना प्रदर्शन कराया गया, इसलिए नैक की टीम ने ए ग्रेड देने के बजाए बी ग्रेड देकर अनुशासन पर सवाल उठा दिए थे।

चिन्मयानंद की तबीयत भी हुई खराब

केस दर्ज होने के बाद और लगातार पूछताछ के दौरान स्वामी चिन्मयानंद की तबीयत भी बिगड़ गई थी। उन्हें शाहजहांपुर मेडिकल कालेज के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया था।  स्वामी चिन्मयानंद को सीने में दर्द, बीपी और शुगर लेवल कम होने से परेशानी हो गई थी। उन्हें लूज मोशन भी हो रहे थे। इसलिए उनका आश्रम में ही इलाज किया जा रहा था। मेडिकल कालेज के आठ डाक्टरों ने उनकी अलग-अलग जांच की थी। इसके बाद सेहत में कुछ सुधार हुआ था। जब तीसरी बार तबीयत बिगड़ी तो एंबुलेंस के जरिए चिन्मयानंद को मेडिकल कालेज ले जाया गया। डाक्टरों ने उन्हें आईसीयू वार्ड में भर्ती किया, फिर इलाज शुरू किया।

छात्रा बोली- बाथरूम में ताक-झांक कर चिन्मयानंद ने बनाया था वीडियो

एसआईटी (SIT) ने स्वामी चिन्मयानंद (Chinmayananda) के दो महंगे मोबाइल कब्जे में लिए थे। एलएलएम छात्रा ने आरोप लगाया था कि स्वामी ने बाथरूम में ताक झांक कर एक वीडियो बनाया था।

बदल गया स्वामी के कमरे का नक्शा

जब तक एसएस लॉ कालेज के हास्टल में एलएलएम छात्रा रही, तब तक दिव्यधाम स्थित स्वामी चिन्मयानंद का कमरा बेहद साधारण था, हां उसमें सादगी ज्यादा थी। पुराने पर्दे पड़े थे। पेंट भी पुराना ही था। जब एसआईटी ने छात्रा की मौजूदगी में स्वामी का शयनकक्ष खोला तो उसमें पूरा नजारा ही बदला हुआ था। शयनकक्ष का पूरा हुलिया ही बदला हुआ था। उसमें नया पेंट हो गया था। नए पर्दे पड़े हुए थे। बेड की चादर भी नई थी। सामान भी अलग-अलग स्थानों पर रखा हुआ था।

छात्रा ने बताया था अपना दर्द

स्वामी चिन्मयानंद पर एलएलएम छात्रा लगातार तगड़े वार कर रही है। इस बार छात्रा ने नया खुलासा किया है कि स्वामी एलएलबी की भी एक अन्य छात्रा का शारीरिक शोषण करते थे। एलएलएम छात्रा ने बताया कि दूसरी लड़की ने उसे अपना दर्द बताया था। इस कारण वह पूरे मामले को जानती है। एलएलएम छात्रा ने कहा कि उसने तो स्वामी के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी, लेकिन एलएलबी की छात्रा घुट-घुट कर जी रही है। स्वामी और उस लड़की के बीच में जो भी कुछ था, एलएलएम छात्रा ने उसके भी अपने हिडेन कैमरे से वीडियो बना लिए थे, जो अब एसआईटी के पास बताए जाते हैं।

कुल 59 वीडियो के जरिए सजा दिलाने की तैयारी

स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ अब तक 59 वीडियो एसआईटी को सौंपे जा चुके हैं। 16 वीडियो तो संजय सिंह ने अपनी एक पेन ड्राइव में एसआईटी को सौंपे थे। इसके बाद शुक्रवार शाम को छात्रा ने भी एसआईटी को 43 वीडियो एसआईटी को सौंप दिए। छात्रा ने 43 वीडियो जो सौंपे हैं, उसका मानना है कि वह वीडियो स्वामी चिन्मयानंद को जेल तक ले जाने के लिए काफी हैं, छात्रा इन वीडियो को लेकर काफी आत्मविश्वास में हैं।

Swami Chinmayanand Case Timeline

-23 अगस्त को एलएलएम छात्रा (LLM student) एसएस लॉ कालेज (SS Law College) के हास्टल से लापता हो गई

-24 अगस्त को एलएलएम छात्रा ने अपने फेसबुक अकाउंट से आरोप लगाते वीडियो अपलोड किया

-25 अगस्त को स्वामी चिन्मयानंद के वकील की ओर से पांच करोड़ रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज

-25 अगस्त को छात्रा के पिता की ओर से स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी गई

-26 अगस्त को कोतवाली पुलिस ने गुमशुदगी के आधार पर छात्रा की तलाश शुरू कर दी

-27 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मामले को स्वत: संज्ञान लिया, स्वामी पर अपहरण, धमकी का मुकदमा

-28 अगस्त को छात्रा ने अपनी मां के पास फोन किया, बताया कि उसके पास वीडियो रिकार्डिंग है

-28 अगस्त को महिला आयोग ने मामले का संज्ञान लिया, प्रियंका गांधी ने भाजपा पर वार किया

-29 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया, छात्रा को बरामद कर पेश करने का निर्देश दिया

-30 अगस्त को पुलिस ने राजस्थान से छात्रा को बरामद किया, सुप्रीम कोर्ट में पेश किया गया

-31 अगस्त को पिता ने कहा कि बेटी ने दिल्ली बुलाया है, पुलिस के आने पर जाएंगे सब दिल्ली

-1 सितंबर को चिन्मयानंद के बयान लेने के लिए शाहजहांपुर पुलिस हरिद्वार गई, मिले नहीं

-2 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट में छात्रा के बयान हुए, एसआईटी गठित करने, दूसरे स्कूल में दाखिले के निर्देश

-3 सितंबर को यूपी के प्रमुख सचिव ने नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर कोर्ट को सूचित किया

-4 सितंबर को स्वामी चिन्मयानंद ने मौन तोड़ा, मीडिया से कहा अपने कालेज के लोगों की साजिश है

-5 सितंबर को छात्रा ने दिल्ली में स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ जीरो नंबर पर दुराचार का मुकदमा लिखाया, केस यूपी ट्रांसफर

-6 सितंबर को आईजी नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में एसआईटी शाहजहांपुर पहुंची, मीडिया से बातचीत की, कागज आदि जुटाए

-7 सितंबर को एसआईटी एसएस लॉ कालेज गई, सब चीजें देखीं

-8 सितंबर को एसआईटी ने छात्रा, उसके पिता, दोस्त संजय से पुलिस लाइन अस्थाई कार्यालय बुला कर पूछताछ की

-9 सितंबर को एलएलएम छात्रा मीडिया के सामने आई, कहा कि दुराचार करते थे स्वामी, डीएम ने पापा को धमकाया था

-10 सितंबर को एसआईटी कालेज गई, आठ घंटे तक हास्टल का रूम खंगाला। स्वामी की 16 वीडियो वायरल। छात्रा का वीडियो भी वायरल

-11 सितंबर को एसआईटी ने महिला अस्पताल में छात्रा का मेडिकल कराया

-12 सितंबर को स्वामी चिन्मयानंद से पुलिस लाइन में आधी रात के बाद तक पूछताछ, 3.30 बजे दिव्यधाम का शयनकक्ष सील

-13 सितंबर को एसआईटी ने दिव्य धाम के शयन कक्ष को खंगाला, कई चीजें कब्जे में लीं, छात्रा ने 43 वीडियो एसआईटी को सौंपे

-14 सितंबर को एसआईटी ने पुलिस लाइन में छात्रा की मां, कालेज स्टाफ और स्वामी के निजी स्टाफ के छह से अधिक लोगों से पूछताछ की

- 17 सितंबर को चिन्मयानंद की तबीतय खराब हुई। 

-20 सितंबर को चिन्मयानंद की गिरफ्तारी

 

समर्थन में बिग बॉस फेम स्वामी ओम

बिग बॉस (Bigg Boss) फेम स्वामी ओम (Swami Om) चिन्मयानंद के समर्थन में शाहजहांपुर (Shahjahanpur case) पहुंचे थे। उन्होंने स्वामी चिन्मयानंद (Chinmayanada) पर लगे आरोपों को साजिश करार दिया था। उन्होंने कहा था कि हिन्दू साधु संतों के खिलाफ एक बड़ी साजिश है, इसे हम सफल नहीं होने देंगे। स्वामी ओम ने कहा था कि हम भारत को सुपर पावर बनाना चाहते हैं, ऐसे में हिन्दू साधु संतों के खिलाफ एक बड़ी साजिश रची जा रही है। हम इस साजिश को सफल नहीं होने देंगे। निर्दोष हिंदू संतों और साधुओं को बदनाम नहीं होने दिया जाएगा। हिन्दुओं का एकीकरण उनका बचपन का लक्ष्य है, उसी लक्ष्य के तहत वह  शाहजहांपुर पहुंचे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:swami Chinmayanand Luxury life Left behind now journey begins behind the prison bars read all about case