DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक में टला राजनीतिक संकट, कांग्रेस विधायक पार्टी में लौटे, कहा-बिक जाने का सवाल नहीं

CLP leader Siddaramaiah had made it clear that proceedings under anti-defection laws would be initia

कांग्रेस विधायक दल की शुक्रवार को यहां होने वाली विधायक दल की अहम बैठक से पहले कई कांग्रेस विधायक पार्टी में लौट आए जिससे एचडी कुमार स्वामीनीत गठबंधन सरकार के लिए संकट के टलने की उम्मीद जगी है। इन विधायकों पर कथित तौर पर भाजपा की नजर थी। कांग्रेस ने पार्टी के अंदर असंतोष थामने की कोशिश तेज कर दी हैं। उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा यहां पहुंचे और उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी सरकार को गिराने के किसी भी अभियान में शामिल नहीं है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के विधायक भी गुरुग्राम से लौट रहे हैं जहां वे कुछ दिनों से ठहरे हुए थे।
     
सरकार को अस्थिर करने की 'व्यर्थ कोशिश करने को लेकर भाजपा पर हमला करते हुए कुमारस्वामी ने उसपर अपने विधायकों को गुरूग्राम के एक होटल में 'बंधक बना कर रखने का आरोप लगाया। सरकार गठन के अपने प्रयास के तहत कांग्रेस विधायकों को फुसलाने की भाजपा की कथित कोशिशों की खबरों से पैदा राजनीतिक उथल-पुथल से जूझ रहे कुमारस्वामी ने भगवा पार्टी के इस आरोप को खारिज कर दिया कि वह भाजपा विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

राहुल के हस्तक्षेप से टला कनार्टक संकट,CM ने की असंतुष्ट MLAs से बात

विधायक दल की होगी बैठक     
शुक्रवार की कांग्रेस विधायक दल की बैठक को सरकार गिराने की भाजपा की कथित कोशिश के जवाब में कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन माना जा रहा है। सत्तारुढ़ गठबंधन ने कहा है कि भाजपा की कोशिश विफल रही है। कांग्रेस विधायकों को जारी नोटिस विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने चेतावनी दी कि शुक्रवार की बैठक में विधायकों की गैर-मौजूदगी को गंभीरता से लिया जाएगा। सिद्धरमैया ने कहा, ''मैं आपके संज्ञान में लाना चाहता हूं कि आपकी गैर हाजिरी को गंभरता से लिया जाएगा और यह माना जाएगा कि आपने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्राथमिकता सदस्यता स्वेच्छा से छोड़ने का फैसला कर लिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे में दल-बदल कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। हुबली में सिद्धरमैया ने दावा किया कि पार्टी के सभी विधायक सीएलपी की बैठक में आयेंगे। जब उनसे पूछा गया कि क्या पार्टी में लौटने वाले असंतुष्ट विधायकों को मंत्री बनाया जाएगा तो उन्होंने कहा, ''हमने किसी से नहीं कहा है कि हम उन्हें मंत्री या कुछ और बनायेंगे। कांग्रेस में कोई असंतोष नहीं है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 122 करोड़ खर्च किए

बिक जाने का सवाल नहीं
कांग्रेस के लिए राहत की बात है कि कुछ और विधायक, जो कथित रुप से पार्टी के संपर्क से कट गये गये थे तथा जिन्हें कथित रुप से भाजपा अपने पाले में करने के लिए बहला फुसला रही थी, सामने आए और उन्होंने पार्टी के प्रति निष्ठा जताई। येल्लापुर के विधायक शिवराम हेब्बार ने बृहस्पतिवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गुंडू राव से भेंट की और कहा कि वह परिवार के साथ अंडमान निकोबार गये थे जिसकी योजना एक महीने पहले बनी थी। उन्होंने अपनी इस यात्रा को वर्तमान घटनाक्रम के साथ महज संयोग बताया और कहा , ''मैं कांग्रेस का कार्यकर्ता हूं... किसी भी कारणसे बिक जाने का कोई प्रश्न ही नहीं उठता।  उनकी तरह कई और विधायकों ने करीब करीब ऐसी ही बात कही। वैसे असंतोष से इनकार करने वाले बल्लारी के विधायक बी नागेंद्र ने अदालती सुनवाई के चलते विधायक दल की बैठक में पहुंच पाने पर संदेह प्रकट किया।
     
कुमारस्वामी ने दागे सवाल
कुमारस्वामी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष येद्दियुरप्पा का बार बार यह दावा करना कि मुख्यमंत्री समेत कांग्रेस जदएस के नेता उनकी पार्टी के विधायकों को लालच दे रहे हैं, उनके लिए हैरत की बात है। उन्होंने कहा, ''वे (सरकार को अस्थिर करने के लिए) सभी प्रकार की व्यर्थ कोशिशें कर रहे हैं। कौन आगे आगे चल रहा है और (विधायकों को) फुसलाने में जुटा है? उन्होंने सवाल दागा, ''आज मैं येदियुरप्पा और उनके मित्रों से से पूछना चाहता हूं कि कबतक आप गुरुग्राम के एक होटल में ठहरे रहेंगे, आपने किस वजह से विधायकों को बंधक बना रखा है। भाजपा पर विधायकों को फुसलाने के लिए 'हर चीज करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ''लेकिन अब आप हमपर आरोप मढ़ रहे हैं, यदि आप महसूस करते हैं कि आप जो कुछ कह रहे हैं लोग मान लेंगे, तो आप गलत हैं। लोग सही समय पर भाजपा नेताओं को जवाब देंगे।

मिशन 2019: सवर्णों को आरक्षण से भाजपा को हो सकता है चुनावी फायदा

लोकसभा चुनाव की तैयारी के लिए चर्चा
     
उधर, येदियुरप्पा ने कहा, ''भाजपा से कोई भी किसी भी प्रकार के अभियान या कांग्रेस-जदएस गठबंधन के विधायकों को फुसलाने में नहीं लगा है। उन्होंने कहा, ''हमने एक स्थान पर अपने सभी विधायकों को एकत्रित किया था और पिछले दो तीन दिन से आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी पर चर्चा कर रहे थे। आज सभी लौट रहे हैं। उन्होंने कहा, ''हम अपने विधायकों को एकत्रित करते हैं तो उन्हें डर किस बात का है, मुझे समझ में नहीं आता। कांग्रेस और जदएस के बीच की अंदरुनी लड़ाई नियंत्रण के बाहर जा रही है, अपनी अंदरुनी लड़ाई पर पर्दा डालने के लिए वे भाजपा पर दोष मढ़ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Suspense on rebel Congress MLAs continues in Karnataka