ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश 'सावन-भादो' बयान के बाद फिर बोले सुशील मोदी- बिहार में आर्थिक मंदी का नहीं पड़ा असर

'सावन-भादो' बयान के बाद फिर बोले सुशील मोदी- बिहार में आर्थिक मंदी का नहीं पड़ा असर

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) आर्थिक मंदी (economy recession) पर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का मानना है कि बिहार में आर्थिक मंदी...

 'सावन-भादो' बयान के बाद फिर बोले सुशील मोदी- बिहार में आर्थिक मंदी का नहीं पड़ा असर
लाइव हिन्दुस्तान टीम,पटनाTue, 03 Sep 2019 06:39 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) आर्थिक मंदी (economy recession) पर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का मानना है कि बिहार में आर्थिक मंदी का असर नहीं पड़ा है। हालांकि, वह मान रहे हैं कि ऑटोमोबाइल सेक्टर में गिरावट आई है। भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने पटना में एक बार फिर से मंदी पर बयान दिया और कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि अर्थव्यवस्था को मंदी का सामना करना पड़ रहा है, यह सच है कि ऑटोमोबाइल क्षेत्र में गिरावट आई है। हालांकि, बिहार में वाहनों की बिक्री में कोई गिरावट नहीं आई है, बिक्री में पिछले वर्ष की तुलना में वृद्धि हुई है। 

मोदी बोले- वैसे तो हर साल सावन-भादो में मंदी रहती है, लेकिन इस बार..

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सुशील कुमार मोदी ने दावा किया 'मैं एक अखबार में पढ़ रहा था कि लोगों ने बिस्कुट खरीदना बंद कर दिया है, बिस्कुट के एक ब्रांड की बिक्री घट गई है। हालांकि, जब मैंने बिहार के बिस्किट निर्माताओं से बात की तो उन्होंने बताया कि राज्य और देश में बिक्री बढ़ी है।'

बता दें कि इससे पहले उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि वैसे तो हर साल सावन-भादो में मंदी रहती है, लेकिन इस बार मंदी का ज्यादा शोर मचा कर कुछ लोग चुनावी पराजय की खीझ उतार रहे हैं। बिहार में मंदी का खास असर नहीं है, इसलिए वाहनों की बिक्री नहीं घटी। 

चुनाव जीतने को कड़े फैसले से परहेज नहीं करेगा राजद : तेजस्वी

रविवार को ट्वीट कर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए 32 सूत्री राहत पैकेज की घोषणा की। 10 छोटे बैंकों के विलय की पहल से लेंडिंग कैपिसिटी बढ़ाने जैसे चौतरफा उपाय किए हैं। केंद्र सरकार जल्द ही तीसरा पैकेज घोषित करने वाली है। इसका असर अगली तिमाही में महसूस किया जाएगा।