DA Image
22 अक्तूबर, 2020|6:36|IST

अगली स्टोरी

सुशांत सिंह राजपूत केस: NCB को तगड़ा झटका, ड्रग्स मामले में बयानों से पलटे जैद और परिहार

showik chakraborty and sushant singh rajput

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में ड्रग्स का एंगल सामने आने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) द्वारा गिरफ्तार किए गए दो आरोपी-जैद विलात्रा और अब्दुल बासित परिहार अपने बयान से मुकर गए हैं। इन्हीं दोनों के बयानों के आधार पर एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा और डॉमेस्टिक हेल्पर दीपेश सावंत को गिरफ्तार किया था।

जैद विलात्रा और परिहार ने अर्जी में दावा किया कि एनसीबी अधिकारियों ने उनके बयान जबरदस्ती करके रिकॉर्ड किए थे। इस समय विलात्रा और परिहार एनसीबी की हिरासत में हैं। ड्रग्स मामले के दोनों आरोपियों को जब मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया गया, तो उन्होंने अपने बयान को स्वीकार करने से मना कर दिया। 

विलात्रा को 3 सितंबर को गिरफ्तार करके मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया गया था। वहीं, परिहार को एनसीबी की टीम ने चार सितंबर को मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया था। विलात्रा और परिहार के वकील तारक सैयद ने कहा, 'जब उन्हें अदालत में पेश किया गया तो हमने अर्जी दाखिल की। उन्होंने वहां एनसीबी अधिकारियों के सामने दिए गए बयानों को वापस ले लिया, जिसके बाद जमानत मांगी।'

यह भी पढ़ें: आज भी गिरप्तारी से बच गईं रिया, अब तक 14 घंटे हुई पूछताछ

उन्होंने कहा, 'यह एक जमानती अपराध है। साथ ही, इसमें शामिल ड्रग्स की मात्रा बेहद कम है जोकि आरोपी को जमानत का हक देता है।' हालांकि, मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। वहीं, एनसीबी ने सबसे पहले अब्बास अली लखानी (21) को 28 अगस्त को 46 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया था। लखानी द्वारा दी गई सूचना के आधार पर उसके सप्लायर कर्ण अरोड़ा को 13 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया। बाद में दोनों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर एनसीबी ने 3 सितंबर को विलात्रा और परिहार को गिरफ्तार किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sushant Singh Rajput death: Two accused retract their statement given to NCB