DA Image
29 सितम्बर, 2020|8:47|IST

अगली स्टोरी

सुशांत केस: AIIMS ने CBI को सौंपी रिपोर्ट, हत्या या आत्महत्या... जल्द सुलझेगी गुत्थी

सुशांत सिंह राजपूत की मौत हत्या थी या आत्महत्या, यह गुत्थी अब जल्द ही सुलझ सकती है, क्योंकि सीबीआई को एम्स की रिपोर्ट मिल गई है। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, एम्स की फॉरेंसिंक टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी है। अब सीबीआई उस रिपोर्ट का विश्लेषण कर रही है और इसके बाद ही सीबीआई किसी नतीजे पर पहुंचेगी। सोमवार को सीबीआई ने बयान जारी कर कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो पेशेवर जांच कर रहा है और सभी पहलुओं पर गौर किया जा रहा है और अभी तक किसी भी पहलू से इनकार नहीं किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कल यानी सोमवार को एक विस्तृत बैठक हुई, जिस दौरान एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सीबीआई को अपने निर्णायक निष्कर्ष रिपोर्ट सौंपे। बता दें कि डॉ सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता वाली समिति का गठन केंद्रीय जांच ब्यूरो के अनुरोध पर किया गया था ताकि पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट का गहन अध्ययन किया जा सके। 

पिछले दिनों बताया गया था कि एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सुशांत की मौत में जहर की जांच के लिए विसरा टेस्ट किया था। इससे पहले सीबीआई ने सुशांत सिंह राजपूत के मुंबई स्थित घर पर फॉरेंसिक जांच और आगे की जांच के लिए दिल्ली एम्स से तीन सदस्यीय डॉक्टरों की एक विशेष टीम बुलाई थी। बता दें कि इससे पहले डॉ. सुधीर गुप्ता के नेतृत्व वाली एम्स की फॉरेंसिक टीम ने शीना बोरा मामले और सुनंदा पुष्कर मामले जैसे कई हाई प्रोफाइल मामलों में अपनी चिकित्सकीय-कानूनी राय पेश की थी।

सुशांत के विसरा जांच में सैंपल का परीक्षण करने के लिए एम्फ़ैटेमिन, कैनबिस, ओपियोड, कोकीन, हेरोइन आदि ड्रग का भी टेस्ट किया गया है। इन ड्रग के सैंपल टेस्ट से यह पता चल जाएगा कि क्या सुशांत सिंह राजपूत ने वास्तव में इनमें से किसी भी ड्रग्स का सेवन किया है या नहीं।

दरअसल, किसी भी इंसान की मौत हो जाने के बाद अगर पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराती है, तो इस दौरान मरने वाले के शरीर से विसरल पार्ट यानि आंत, दिल, किडनी, लीवर आदि अंगों का सैंपल लिया जाता है, उसे ही विसरा कहा जाता है। अगर किसी शख्स की मौत संदिग्ध हालात में होती है, उसकी मौत के पीछे पुलिस या परिवार को किसी भी तरह के ड्रग या जहर का शक होता है, तो ऐसे मामलों में मौत की वजह जानने के लिए विसरा की जांच की जाती है। 

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई के बांद्रा में स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे। सुशांत सिंह के अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला था कि उनके शरीर पर किसी भी तरह के चोट निशान नहीं मिले थे। हालांकि, बाद में सुशांत के परिवार की ओर से एफआईआर कराए जाने के बाद से मामले ने तूल पकड़ लिया और अब इसकी तीन एजेंसियां जांच कर रही हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sushant Singh Rajput case AIIMS Forensic team submitted its report to CBI