DA Image
17 सितम्बर, 2020|9:21|IST

अगली स्टोरी

सुप्रीम कोर्ट की सलाह: पति को होना चाहिए महान प्रेमी

court order  symbolic image

उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को छत्तीसगढ़ से एक अंतर-धार्मिक विवाह के एक विवादित मामला सुनवाई के दौरान कहा कि पुरुष को एक वफादार पति व एक महान प्रेमी होना चाहिए। न्यायमूर्ति अरुण कुमार मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा, हम केवल उसके (महिला के) भविष्य को लेकर चिंतित हैं। हम अंतरधार्मिक या अंतरजातीय विवाह के खिलाफ नहीं हैं। पुरुष को एक वफादार पति और अच्छा प्रेमी होना चाहिए। गौरतलब है कि एक हिंदू महिला ने एक मुस्लिम पुरुष से विवाह किया था। पुरुष ने स्वीकार किया कि महिला के परिवार से स्वीकृति पाने के लिए वह हिंदू धर्म भी स्वीकार कर चुका है। वहीं, महिला के परिवार ने उसके धर्म परिवर्तन को मात्र छलावा करार दिया है। 

पीठ ने पुरुष से एक शपथपत्र और प्रमाणपत्र जमा करने के लिए कहा है। शीर्ष अदालत ने पुरुष से पूछा कि क्या उसने आर्य समाज मंदिर में शादी के बाद अपना नाम बदल लिया है और इसके लिए उसने उचित कानूनी कदम उठाए हैं। महिला के पिता के वकील ने कहा कि यह लड़कियों को फंसाने वाला गोरखधंधा है। इस मामले में शीर्ष अदालत ने राज्य सरकार से जवाब भी मांगा है और लड़की को हस्तक्षेप के आवेदन की अनुमति दी है। मामले की अगली सुनवाई 24 सितंबर को होगी। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Supreme Court says Husbands Should Be Great Lovers