DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुप्रीम कोर्ट विवाद: भाजपा और विपक्ष के बीच वाकयुद्ध

Rahul Gandhi and sambi patra

विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट के कामकाज को लेकर उसके चार न्यायधीशों द्वारा उठाए गए मुद्दों की ''गहन जांच की मांग की जिसे लेकर भाजपा ने उन पर न्यायपालिका के ''आंतरिक मामलों का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया।
     
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्यायाधीशों की ओर से जतायी गयी चिंता को ''बेहद महत्वपूर्ण बताते हुए न्यायमूर्ति बी एच लोया की रहस्यमत मौत की जांच की भी मांग की। लोया की मौत 2014 में तब हुई थी जब वह सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे जिसमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आरोपी थे लेकिन बाद में बरी हो गए।

राहुल ने कहा, ''मुझे लगता है कि चारों न्यायाधीशों ने बेहद महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र खतरे में है। इन पर गहराई से ध्यान देने की जरूरत है।
 

सीजेआई को पत्रः हम बहुत दुःख और और चिंता के साथ यह लिख रहे हैं...

भाजपा ने पलटवार करते हुए कांग्रेस पर न्यायपालिका के आंतरिक मामलों का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया।
पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ''देश के राजनीतिक दल न्यायिक कार्यक्षेत्र के बाहर राजनीति कर रहे हैं, वे न्यायपालिका के आंतरिक मामलों को घसीटने की कोशिश कर रहे हैं और उसका राजनीतिकरण कर रहे हैं जोकि नहीं होना चाहिए।
  
माकपा महासचिव सीताराम येुचरी ने कहा कि यह समझने के लिए गहन जांच की जानी चाहिए कि न्यायपालिका की स्वतंत्रता और अखंडता किस तरह से ''प्रभावित हो रही है।
 
पूर्व राज्यसभा सदस्य शरद यादव ने इसे लोकतंत्र के लिए एक ''काला दिन बताते हुए कहा कि पहली बार उच्चतम न्यायालय के निवर्तमान न्यायाधीशों को अपनी शिकायतें रखने के लिए मीडिया के सामने बोलना पड़ा।

जजों के विवाद पर बोले अटॉर्नी जनरल, सुलझ जाएगा मामला

जजों की PC:सुप्रीम कोर्ट में सब ठीक नहीं,बीते दिनों में बहुत कुछ हुआ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Supreme Court controversy war between BJP and congress after judges press confrence