DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

STORM: देशभर में आंधी-बारिश से 49 की मौत, फसलें चौपट

राजस्थान तूफान

देश में महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों में मंगलवार को तेज आंधी, बारिश, ओलावृष्टि व आकाशीय बिजली गिरने के कारण 49 लोगों की मौत हो गई। इन जगहों पर फसलों को भी नुकसान पहुंचा है। 

सबसे अधिक 21 मौतें राजस्थान में हुई हैं। राज्य सरकार ने मृतकों को चार-चार लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। राहत सचिव आशुतोष ए टी पेडनेकर ने बुधवार को बताया, ‘जयपुर, झालावाड़ व उदयपुर में चार-चार लोगों की मौत हुईं जबकि जालौर और बूंदी में दो दो, बारां, राजसमंद, भीलवाड़ा, अलवर और हनुमानगढ़ में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।’ महाराष्ट्र के नासिक जिले में अलग-अलग घटनाओं में तीन लोग मारे गए। 

गुजरात में 10 की मौत :

गुजरात के कई हिस्सों में बारिश और तेज आंधी चलने से 10 लोग मारे गए और कई घायल हो गए। वहीं राजस्थान में आंधी, ओलावृष्टि और बारिश से 10 लोगों की जानें गईं। मध्यप्रदेश के इन्दौर, धार और शाजापुर जिले में तीन-तीन, रतलाम जिले में दो और अलीराजपुर, शाजापुर, राजगढ़, सीहोर और छिंदवाड़ा जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत होने की खबर है। 
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, गुरुवार को भी राजधानी दिल्ली में बदली छाई रहेगी और बूंदाबांदी की संभावना है।

बेहद दुखी हूं : प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बारिश और आंधी में जान गंवाने वालों के परिवारों को 2-2 लाख व घायलों को 50 हजार रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है और मौतों पर दुख जताया है। पूरी राशि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दी जाएगी। इससे पूर्व उन्होंने ट्वीट किया, ‘गुजरात के विभिन्न हिस्सों में बेमौसम बारिश और तूफान के चलते लोगों की जान जाने से बेहद दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। प्रशासन स्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए है। प्रभावितों को हरसंभव सहायता दी जा रही है।’

आपकी संवेदनाएं गुजरात तक सीमित : कमलनाथ

 मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट पर कटाक्ष करते हुए आरोप लगाया कि उन्हें केवल गुजरात की चिंता है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मोदी जी, आप देश के पीएम हैं, ना कि गुजरात के। मध्यप्रदेश में भी 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है। लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ गुजरात तक ही क्यों सीमित है? भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहां भी बसते हैं।’

केंद्र को सूचित करने की बजाय, उन्होंने आपदा पर राजनीति करने का विकल्प चुना।-अनिल बलूनी, राज्यसभा सांसद, भाजपा मीडिया प्रभारी

देश में आए आंधी-तूफान के कारण हुई जान-माल की हानि की खबर से मुझे बहुत दुख पहुंचा है। पीड़ित परिवारों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ। जो घायल हैं, वो जल्द से जल्द स्वस्थ हों, मेरी यही कामना है...मेरा निवेदन है कि आप सभी लोग आने वाले कुछ दिनों के लिए सावधानी बरतें। -राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष 

मदद को तैयार : राजनाथ

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोगों की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि वह इससे दुखी हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार देशभर में इन घटनाओं से प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद पहुंचाने को तैयार है। बारिश के कारण बड़े पैमाने पर फसलें खराब हुई हैं और आंधी से जगह-जगह बड़ी संख्या में पेड़ उखड़ गए हैं।

गेहूं, आम, लीची को नुकसान 

बीते चौबीस घंटों में उत्तर भारत में प्रचंड हवाओं के साथ हुई बारिश व ओलावृष्टि से खेतों में गेहूं की पकी खड़ी फसल बिछ गई। हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश में मौसम का यही आलम रहा।  हिमाचल में बारिश के साथ ओले गिरे। इससे गेहूं की फसल, आम तथा अन्य फलों को नुकसान हुआ। मौसम केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुवार तक बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।  पंजाब में गेहूं की फसल को सबसे अधिक नुकसान हुआ। तेज हवा में आम, लीची सहित अन्य फल वाले वृक्षों का बौर झड़ गया।  

भाजपा की सुनामी, तिनके की तरह उड़ जाएगा गठबंधन: राजनाथ सिंह

लोकसभा 2019: विज बोले- सिद्धू का रिमोट पाक प्रधानमंत्री के हाथ में

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Storm Rain Nationwide killed 49