DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोनभद्र हत्याकांड: योगी आदित्यनाथ बोले, कांग्रेस नेताओं ने किया यह पाप और सपा से अपराधियों के लिंक

yogi adityanath  chief minister  uttar pradesh

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र गोलीबारी में मारे गए परिवारों से रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह पाप कांग्रेस के नेताओं का है और जिन लोगों ने अपराध किया है उनके संबंध समाजवादी पार्टी से हैं। 

सीएम योगी ने बताया है कि सरकार ने प्रधान और उनके सभी लोगों को गिरफ्तार किया है और हथियार भी बरामद किए हैं। इस मामले में दो कमेटी बनाई है। पुलिस के स्तर पर कहां लापरवाही हुई है इसकी जांच की जा रही है। जब इसकी जानकारी पहले से थी। कई पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गई है और जांच की जा रही है कि कई और अधिकारी शामिल नहीं है। सीएम ने कहा कि नेपाल से जुड़े बॉर्डरों पर हमने काम किया है। सोनभद्र में काम कर रहे हैं। इस तरह की घटनाएं भविष्य में ना हो इस पर कार्रवाई कर रहे हैं। 

उभ्भा गांव से लौटने पर कलक्ट्रेट में सीएम योगी ने मीडिया से बात की लेकिन कोई सवाल नहीं लिया। सीएम ने कहा कि मुख्य आरोपी प्रधान सपा का कार्यकर्ता है। उसका भाई बसपा का कार्यकर्ता है। आयोपितों पर रासुका के तहत कार्रवाई होगी। योगी ने कहा कि घटना के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। उसी के समय ग्राम समाज की जमीन सोसाइटी के नाम की गई थी। तत्कालीन सांसद की सोसाइटी थी। उन्होंने कहा कि  सोनभद्र में जितनी भी राजस्व की जमीन होगी सभी की जांच होगी और सोनभद्र में राजस्व परिषद का गठन होगा। आदिवासियों के लिए आवासीय विद्यालय भी खोला जाएगा। सोनभद्र के ओबरा को तहसील बनाने और कोन के साथ कर्मा को ब्लाक बनाने का प्रस्ताव भेजने की बात भी कही।सीएम ने कहा कि जिस उभ्भा गांव में दस लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया वहां पुलिस चौकी बनेगी। घोरावल में फायर स्टेशन बनेगा।

यह है मामला
17 जुलाई को सोनभद्र में घोरावल के उभ्भा गांव में 112 बीघा खेत के लिए दस ग्रामीणों को मौत के घाट उतार दिया गया था। लगभग चार करोड़ रुपए की कीमत की इस जमीन के लिए प्रधान और उसके पक्ष ने ग्रामीणों पर अंधाधुन फायरिंग कर दी थी। इस हादसे में 25 अन्य लोग घायल हो गए थे।

ऐसे हुई थी घटना
सोनभद्र में घोरावल के उम्भा गांव में 112 बीघा खेत जोतने के लिए गांव का प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर 32 ट्रैक्टर लेकर पहुंचा था। इन ट्रैक्टरों पर लगभग 60 से 70 लोग सवार थे। यह लोग अपने साथ लाठी-डंडा, भाला-बल्लम और राइफल और बंदूक लेकर आए थे। गांव में पहुंचते ही इन लोगों ने ट्रैक्टरों से खेत जोतना शुरू कर दिया। जब ग्रामीणों ने विरोध किया तो यज्ञदत्त और उनके लोगों ने ग्रामीणों पर लाठी-डंडा, भाला-बल्लम के साथ ही राइफल और बंदूक से भी गोलियां चलानी शुरू कर दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sonbhadra massacre yogi adityanath meet with families of those killed in up shootout