ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशTMC के गुंडे घर-घर जाकर देखते थे किसकी बीवी सुंदर है... संदेशखाली केस पर स्मृति ईरानी का ममता सरकार पर हमला

TMC के गुंडे घर-घर जाकर देखते थे किसकी बीवी सुंदर है... संदेशखाली केस पर स्मृति ईरानी का ममता सरकार पर हमला

केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्मृति ईरानी ने ममता बनर्जी सरकार पर संदेशखाली केस में आरोप लगाया कि टीएमसी के गुंडे घर-घर जाकर देखते थे कि किसकी बीवी सुंदर है।

TMC के गुंडे घर-घर जाकर देखते थे किसकी बीवी सुंदर है... संदेशखाली केस पर स्मृति ईरानी का ममता सरकार पर हमला
Gaurav Kalaपीटीआई एएनआई,नई दिल्लीMon, 12 Feb 2024 06:52 PM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोला। उन्होंने संदेशखाली मुद्दे पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सरकार की आलोचना की। आरोप लगाया कि टीएमसी के गुंडे घर-घर जाकर देखते थे कि किसकी बीवी ज्यादा सुंदर है। फिर महिला को सलेक्ट करके उसके पति को कहते थे कि इस महिला पर अब हमारा अधिकार है। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी सरकार हिंदुओं के नरसंहार के लिए जानी जाती हैं और अब वह उन्होंने अब अपनी पार्टी के 'गुडों' को विवाहित महिलाओं के साथ बलात्कार की अनुमति दे दी है।

समाचार एजेंसी एएनआई ने स्मृति ईरानी के हवाले से कहा, "ममता बनर्जी हिंदुओं के नरसंहार के लिए जानी जाती हैं। वह अब अपने आदमियों को टीएमसी कार्यालय में बलात्कार के लिए युवा विवाहित हिंदू महिलाओं को चुनने की अनुमति देंगी... यह आदमी कौन है जिस पर संदेशखाली की महिलाओं ने सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया है बंगाली हिंदू महिलाओं का?... अब तक हर कोई सोच रहा है कि शेख शाहजहाँ कौन है। अब, ममता बनर्जी को जिस सवाल का जवाब देना है वह है - शेख शाहजहाँ कहां हैं?'' 

उन्होंने दावा किया कि बंगाल शहर की महिलाओं ने मीडिया को बताया कि "टीएमसी के गुंडे" हर रात महिलाओं का अपहरण करते हैं और उनके साथ बलात्कार करते हैं। ईरानी ने कहा, "संदेशखाली में, कुछ महिलाओं ने मीडिया को अपनी आपबीती सुनाई... उन्होंने कहा कि टीएमसी के गुंडे हर घर में सबसे खूबसूरत महिला की पहचान करने के लिए घर-घर गए। कौन युवा है? पहचानी गई महिलाओं के पतियों को बताया गया कि आप पति हो सकते हैं, लेकिन अब आपका अपनी पत्नी पर कोई अधिकार नहीं है। वे हर रात महिलाओं का अपहरण कर लेते थे। जब तक वे संतुष्ट नहीं हो जाते, उन्होंने हमें नहीं छोड़ा... ये आरोप क्षेत्र की दलित, एसटी, मछुआरों और किसान समुदायों की महिलाओं ने लगाए हैं।"

उन्होंने उत्तर 24 परगना जिले में ईडी अधिकारियों पर हुए हमले के बारे में भी बात की जब वे टीएमसी नेता शेख शाहजहां के परिसर पर छापा मारने गए थे। ईरानी ने कहा, "आखिरी बार आपने यह नाम तब सुना था जब ईडी अधिकारियों का 'घेराव' किया गया था, उन्हें घायल किया गया था और उन पर ईंट-पत्थर फेंके गए थे। ईडी ने बयान दिया था कि उनके तीन अधिकारियों को चोटें लगी थीं।"

कथित बलात्कार की घटनाओं पर टीएमसी नेता की गिरफ्तारी की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने हाथों में चप्पलें लेकर संदेशखाली में मार्च निकाला, जिसके बाद से बंगाल के 24 परगना जिले के इलाके में तनाव व्याप्त है। इस बीच, खबर है कि आरोपी शेख शहाजहां ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समन पर अग्रिम जमानत के लिए विशेष सीबीआई अदालत का रुख किया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें