DA Image
22 सितम्बर, 2020|8:34|IST

अगली स्टोरी

सुकून से सो जाएं, वे हिफाजत के लिए खड़े हैं: आधी रात में देशवासियों के लिए रक्षा मंत्रालय का ट्वीट

jammu and kashmir  a soldier of the indian army and a militant were killed in a gun battle at southe

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन से जारी गतिरोध के बीच सोमवार आधी रात को रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट करते हुए देशवासियों से कहा कि आप चैन से सो जाएं क्योंकि सेना आपकी रक्षा के लिए मुस्तैद है। यह ट्वीट जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जनसंपर्क कार्यालय (पीआरओ) की ओर से किया गया। ट्वीट में उन्होंने लिखा, "सुकून से सो जाएं, वे आपकी हिफाजत के लिए खड़े हैं।" दूसरी ओर, चीन ने एक बार फिर लद्दाख में यथास्थिति को बदलने की कोशिश की, लेकिन पहले से सतर्क भारतीय जवानों ने उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया।  

भारतीय सेना ने सोमवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना ने नए घटनाक्रम में 29 और 30 अगस्त की दरम्यानी रात को पैंगोंग सो (झील) के दक्षिणी किनारे पर यथास्थिति को एकतरफा ढंग से बदलने के लिए भड़काऊ सैन्य गतिविधि की, लेकिन भारतीय सैनिकों ने उसके इस प्रयास को विफल कर दिया। सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने बताया कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने पूर्वी लद्दाख गतिरोध पर सैन्य और राजनयिक स्तर की बातचीत के जरिए बनी पिछली आम सहमति का उल्लंघन किया तथा यथास्थिति बदलने के लिए भड़काऊ सैन्य गतिविधि की।

सरकारी सूत्रों ने कहा कि क्षेत्र पर कब्जा करने के प्रयास के तहत बड़ी संख्या में चीनी सैनिक पैंगोंग सो (झील) के दक्षिणी किनारे की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन भारतीय सैनिकों ने प्रयास को विफल करने के लिए तुरंत अच्छी-खासी संख्या में सैनिकों की तैनाती कर दी। उन्होंने बताया कि नया मोर्चा खोलने के चीन के प्रयास के दौरान दोनों पक्षों के सैनिकों के बीच कोई शारीरिक संघर्ष नहीं हुआ। दोनों पक्षों के बीच पैंगोंग सो के उत्तरी किनारे पर तनातनी लंबे समय से जारी है, लेकिन यह पहली बार है जब तनातनी की घटना झील के दक्षिणी किनारे पर हुई है।

लद्दाख: भारत को बड़ी कामयाबी, हमारे कंट्रोल में जीत दिलाने वाली जगह

गलवान घाटी में 15 जून को हुई झड़प के बाद यह पहली बड़ी घटना है। गलवान घाटी में हुई झड़प में भारत के 20 सैनिक वीरगति को प्राप्त हो गए थे। इस झड़प में चीन के सैनिक भी मारे गए, लेकिन उसने इस संबंध में अब तक जानकारी साझा नहीं की है। अमेरिका की एक खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ झड़प में चीन के 35 सैनिक मारे गए थे। कर्नल आनंद ने एक बयान में कहा कि भारतीय सेना ने जमीनी तथ्यों को ''एकतरफा ढंग" से बदलने के चीन के इरादों को विफल कर दिया और क्षेत्र में भारत की स्थिति मजबूत करने के लिए कदम उठाए।

LAC पर तनातनी के बीच भारत और चीन के रिश्ते पर क्या बोले EAM जयशंकर?

भारत और चीन ने पिछले ढाई महीने में सैन्य और राजनयिक स्तर की कई दौर की बातचीत की है, लेकिन पूर्वी लद्दाख मुद्दे पर कोई ठोस समाधान नहीं निकल पाया है। पूर्वी लद्दाख में तनाव को कम करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच फोन पर बातचीत के बाद छह जुलाई को दोनों पक्षों की ओर से पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। यह प्रक्रिया मध्य जुलाई से आगे नहीं बढ़ी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sleep peacefully fellow citizens They stand guard Ministry of Defence Tweeted