DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

RIP Sheila Dikshit: राजनीतिक दल बोले - कर्मठ और ईमानदार नेता थीं शीला

sheila dikshit

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के निधन पर कांग्रेसियों के साथ ही अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं ने शोक संवेदना व्यक्त की है। राजनीतिक दलों के नेताओं ने उन्हें कर्मठ, इमानदार और स्पष्टवादी नेता कहा है।

भाजपा जिलाध्यक्ष जनार्दन तिवारी ने कहा कि शीला दीक्षित के निधन से भारतीय राजनीतिक को अपूर्णीय क्षति हुई है। उसकी भरपाई होना मुश्किल है। शीला दीक्षित इमानदार नेता और कुशल प्रशासक थीं। भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य रमेश सिंह ने कहा कि शीला दीक्षित एक कुशल राजनेता और एक अच्छे इंसान के रूप में जानी जाती थी। उनका निधन देश की राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रह्लाद यादव ने कहा है कि शीला दीक्षित वरिष्ठ नेता थीं। उन्होंने अपने काम-काज और आचार-व्यवहार से राजनीति के क्षेत्र में मिसाल पेश की है। उन्होंने राजनीति को बड़ा योगदान दिया है।

नहीं रहीं शीला दीक्षित, पढ़ें उनका पूरा सियासी सफर

सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और पूर्व मंत्री डॉ. मोहसिन खां ने कहा है कि शीला दीक्षित राजनीतिज्ञों के लिए आदर्श हैं। वह उनके प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। बसपा जिलाध्यक्ष घनश्याम राही ने कहा कि कांग्रेस की नेता शीला दीक्षित कर्मठ और इमानदार नेता थीं। वह कांग्रेस के प्रति समर्पित रहीं। उन्होंने अंतिम समय तक कांग्रेस को मजबूत करने की चिंता की। बसपा नेता संजय पांडेय ने कहा कि शीला दीक्षित ने राजनीति में बड़ा मुकाम बनाया। आज के राजनीतिज्ञों को उनके कार्य व्यवहार से सीखने की जरूरत है। उनके निधन से भारतीय राजनीति को झटका लगा है।

पढ़िए, शीला दीक्षित के राजनीतिक सफर की 10 खास बातें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sheila Dikshit was a staunch and honest leader