DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशबेटे आर्यन खान को बेल दिलाने के लिए शाहरुख ने उतारी वकीलों की फौज, जानें कौन-कौन वकील करेंगे बॉम्बे HC में पैरवी

बेटे आर्यन खान को बेल दिलाने के लिए शाहरुख ने उतारी वकीलों की फौज, जानें कौन-कौन वकील करेंगे बॉम्बे HC में पैरवी

लाइव हिन्दुस्तान,मुंबई।Himanshu Jha
Tue, 26 Oct 2021 12:27 PM
बेटे आर्यन खान को बेल दिलाने के लिए शाहरुख ने उतारी वकीलों की फौज, जानें कौन-कौन वकील करेंगे बॉम्बे HC में पैरवी

फिल्म अभिनेता शाहरुख खान ने क्रूज पार्टी ड्रग केस में फंसे अपने बेटे आर्यन खान को बेल दिलवाने के लिए वकीलों की पूरी फौज उताार दी है। इस केस की पैरवी पहले वरिष्ठ वकील सतीश मानशिंदे ने की थी, जिन्होंने रिया चक्रवर्ती केस में मुकदमा लड़ा था। उसके बाद हिट एंड रन केस में सलमान खान को बरी करवाने वाले अमित देसाई ने भी आर्यन की तरफ से पक्ष रखा। अब भारत सरकार के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी आर्यन खान की जमानत पर उनकी तरफ से बॉम्बे हाईकोर्ट में होने वाली सुनवाई में जिरह करेंगे। मुकुल रोहतगी 2002 के गुजरात दंगों से जुड़े मामले में सुप्रीम कोर्ट में राज्य सरकार के वकील रहे थे और हाल ही में कहा था कि शाहरुख के बेटे को बेल दी जानी चाहिए।

इतना ही नहीं, शाहरुख खान ने अपने बेटे आर्यन को जमानत दिलवाने के लिए लॉ फर्म, करंजावाला एंड कंपनी को भी उतारा है। इसके अलावा रूबी सिंह आहूजा और संदीप कपूर की टीम भी बॉम्बे हाईकोर्ट में अपने मुवक्किल आर्यन खान को जमानत दिलवाने की वकालत करेंगे। वकीलों की इस फौज में आनंदिनी फर्नांडीस और रुस्तम मुल्ला जैसे बड़े नाम शामिल हैं।

कौन हैं कंरंजावाला?
अपनी पत्नी माणिक के साथ करंजावाला एंड कंपनी की स्थापना करने वाले रायन करंजावाला की व्यापार और राजनीति जगत की बड़ी हस्तियों के साथ घनिष्ठ मित्रता है। उनके अंतरराष्ट्रीय मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक, टाटा, अंबानी और वाडिया के साथ-साथ पूर्व प्रधान मंत्री वी.पी. सिंह के साथ संबध रहे हैं। भारत सरकार में केंद्रीय वित्त मंत्री रहे दिवंगत अरुण जेटली उनके घनिष्ठ मित्र थे। वे उनसे पहली बार कॉलेज में मिले थे।

खुद झेल चुके हैं यौन शोषण के आरोप
करंजावाला ने खुद यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना किया था, लेकिन 2013 में दिल्ली उच्च न्यायालय ने उनके खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया था। उन्होंने  यौन उत्पीड़न के एक मामले में पत्रकार तरुण तेजपाल का भी केस लड़ा था। इसके अलावा उन्होंने यौन उत्पीड़न मामले से संबंधित मीडिया घरानों के खिलाफ आपराधिक मानहानि के मामले में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश स्वतंत्र कुमार का भी प्रतिनिधित्व किया था।

अमित देसाई ने की थी सेशंस कोर्ट में पैरवी
वरिष्ठ वकील अमित देसाई ने सेशंस कोर्ट में इससे पहले सोमवार को आर्यन खान की पैरवी की थी। हालांकि उन्हें उस समय निराशा हाथ लगी, जब कोर्ट ने जमानत देने से इनकार कर दिया। अमित देसाई ने 2002 में हुए हिट एंड रन मामले में सलमान खान को जमानत दिलाने के साथ-साथ केस से बरी भी करवाया था।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें