ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशबदली संदेशखाली की फिजा, शाहजहां शेख की गिरफ्तारी के बाद जश्न; राज्यपाल बोले- ये अंत की शुरुआत

बदली संदेशखाली की फिजा, शाहजहां शेख की गिरफ्तारी के बाद जश्न; राज्यपाल बोले- ये अंत की शुरुआत

शाहजहां शेख को 10 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। शेख का नाम जनवरी की शुरुआत में चर्चा में आया था, जब ED यानी प्रवर्तन निदेशालय की टीम संदेशखाली में उसके ठिकानों पर दबिश देने पहुंची थी।

बदली संदेशखाली की फिजा, शाहजहां शेख की गिरफ्तारी के बाद जश्न; राज्यपाल बोले- ये अंत की शुरुआत
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताThu, 29 Feb 2024 01:39 PM
ऐप पर पढ़ें

संदेशखाली के बाहुबली और पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख की तलाश पूरी हुई। उसे गुरुवार को संदेशखाली से गिरफ्तार कर लिया गया। खबर है कि बंगाल पुलिस के इस ऐक्शन के बाद से ही संदेशखाली में जश्न का माहौल है और महिलाएं खुशियां मना रही हैं। इधर, राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने इस गिरफ्तारी को 'अंत की शुरुआत' करार दिया है।

गुरुवार को राज्यपाल बोस ने कहा, 'आज बंगाल में हमने जो देखा, वो अंत की शुरुआत है। संदेशखाली की घटनाओं के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी सभी के लिए आंख खोलने वाली है। यह तो बस एक शुरुआत है...।' उन्होंने कहा, 'हमें बंगाल में हिंसा पर लगाम लगानी होगी। हमें यह एहसास है कि बंगाल के कई इलाकों में गैंगस्टर्स राज कर रहे हैं, जिनपर एजेंसियों की नजर नहीं है।'

उन्होंने कहा, 'हम जो अभी देख रहे हैं, वह बस एक शुरुआत है। बंगाल के कई इलाकों में यहां काफी गुंडाराज है। कड़ी कार्रवाई की सख्त जरूरत है।' उन्होंने लोकतंत्र को लेकर कहा, 'मैंने आपको बताया कि सुरंग के अंत में रोशनी होती है। यही लोकतंत्र है। यह हर किसी के लिए सबक है। अब उम्मीद करें कि बंगाल में कानून के राज की नई सुबह हो। मैं खुश हूं कि अच्छी चीजें हो रही हैं।'

संदेशखाली में जश्न
खबरें हैं कि संदेशखाली में जमकर जश्न मनाया जा रहा है। यहां महिलाओं ने शेख और उसके करीबियों पर गलत काम करने, जमीन हड़पने समत कई गंभीर आरोप लगाए थे। हालांकि, मामला संवेदनशील होने के चलते संदेशखाली के साथ-साथ शेख के आवास और कोर्ट के बाहर भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था तैनात थी।

10 दिनों की हिरासत मिली
55 दिन से फरार चल रहे शेख को 10 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। शेख का नाम जनवरी की शुरुआत में चर्चा में आया था, जब ED यानी प्रवर्तन निदेशालय की टीम संदेशखाली में उसके ठिकानों पर दबिश देने पहुंची थी। उस दौरान शेख के समर्थकों ने अधिकारियों पर हमला कर दिया था। तब से ही वह फरार था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें