DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुरैशी ने कहा-भारत को बुलावा देने के चलते ओआईसी की बैठक में शामिल नहीं होगा पाकिस्तान

Pakistan Foreign Minister Shah Mehmood Qureshi (File Pic)

पाकिस्तान ने कहा कि अबु धाबी में होने जा रही ओआईसी (ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन) की बैठक में भारत के निमंत्रण के चलते वह हिस्सा नहीं लेगा। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा- “गेस्ट ऑफ ऑनर के तौर पर सुषमा स्वराज के निमंत्रण के चलते सैद्धांतिक तौर पर वे काउंसिल ऑफ फॉरेन मिनिस्टर्स की बैठक में शामिल नहीं होंगे।”

इसके साथ ही, कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव और रूस से मध्यस्थता की अपील की है ताकि दक्षिण एशिया में जारी तनाव कम हो सके।

भारत ने यूएई को दिया निमंत्रण

गौरतलब है कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्री अब्दुल्लाह बिन जायेद अल नाह्यान ने भारत को न्योता दिया था। यूएई की सरकारी न्यूज एजेंसी अमीरात न्यूज एजेंसी ने इसकी जानकारी दी थी। उसमें बताया गया था कि भारत की वैश्विक राजनीति में अहमियत और सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक विरासत को देखते हुए उसे आमंत्रित किया गया है। भारत की ओर से न्योते के स्वीकार कर लिया गया था।

ये भी पढ़ें: कूटनीतिक जीत! भारत को मुस्लिम देशों के शक्तिशाली संगठन OIC से बुलावा

विदेश मंत्रालय की ओर से जानकारी दी गई थी कि पूर्ण अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में भारत की ओर से सुषमा स्वराज सम्मानित अतिथि है। यह बैठक आज यानि 1 मार्च से अबू धाबी में हो रही है।

क्या है ओआईसी का इतिहास?

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (ओआईसी) मुस्लिम देशों का संगठन है। चार महादेशों में 57 देश OIC के सदस्य हैं। 25 सितंबर, 1969 को मोरक्को की राजधानी रबात में मुस्लिम देशों का एक सम्मेलन हुआ था। उसी सम्मेलन में इस संगठन के स्थापना का फैसला किया गया था। इसका मुख्यालय सऊदी अरब के जेद्दाह में है। इसके मौजूदा महासचिव युसूफ बिन अहमद अल उसैमीन हैं। इस्लामिक कॉन्फ्रेंस ऑफ फॉरेन मिनिस्टर (आईसीएफएम) की 1970 में पहली मीटिंग हुई।

ये भी पढ़ें: OIC की बैठक में शामिल होने के लिए अबू धाबी पहुंची सुषमा स्वराज

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shah Mehmood Qureshi says Pakistan will not attend OIC meeting