DA Image
26 फरवरी, 2020|6:40|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उमर अब्दुल्ला-महबूबा के बाद अब पूर्व नौकरशाह शाह फैसल पर भी जन सुरक्षा कानून के तहत मामला दर्ज

shah faesal

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने उमर अब्दुल्ला- महबूबा मुफ्ती के बाद अब पूर्व नौकरशाह शाह फैसल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। प्रशासनिक सेवा छोड़कर राजनीति में आए पूर्व नौकरशाह शाह फैसल पर जन सुरक्षा कानून यानी पीएसए के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। दरअसल, आईएस टॉपर रहे शाह फैसल जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही नजरबंद हैं और फिलहाल वह श्रीनगर में ही हिरासत में हैं। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के केंद्र के फैसले के बाद से नजरबंद रखे गए पूर्व नौकरशाह शाह फैसल पर अब कठोर प्रावधानों वाले जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किया गया है। यह कानून प्रशासन को किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के छह महीने तक हिरासत में रखने की अनुमति देता है।

दरअसल, जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद बाद राज्य के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला, पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, पीडीपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, अली मोहम्मद सागर आदि पर भी जन सुरक्षा कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। 

क्या है जनसुरक्षा कानून
जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत दो प्रावधान हैं-लोक व्यवस्था और राज्य की सुरक्षा को खतरा। पहले प्रावधान के तहत किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के छह महीने तक और दूसरे प्रावधान के तहत किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Shah Faesal former civil servant and chief of booked under Public Safety Act in Jammu and Kashmir