Shah broke silence on Maharashtra dispute says no new demand of Shiv Sena will be entertained - महाराष्ट्र पर अमित शाह ने तोड़ी चुप्पी, कहा- नहीं मानी जाएगी शिवसेना की कोई नई मांग DA Image
14 दिसंबर, 2019|6:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाराष्ट्र पर अमित शाह ने तोड़ी चुप्पी, कहा- नहीं मानी जाएगी शिवसेना की कोई नई मांग

union home minister amit shah said before this  in no state was so much time given to parties to pro

भाजपा अध्यक्ष  और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि शिवसेना की कोई नई मांग नहीं मानी जाएगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि भाजपा ने पहले ही साफ तौर पर कह दिया था कि गठबंधन सरकार बनने पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ही होंगे। इसके बावजूद उन्होंने नई मांग रख दी, जो भाजपा को स्वीकार्य नहीं है।
 

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद सत्ता के लिए शुरू हुए संघर्ष को लेकर पहली बार अमित शाह का बयान आया है। बुधवार को एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि भाजपा और शिवसेना के बीच क्या हुआ, इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। यह पार्टी की नैतिक सोच  के खिलाफ है। मगर, वह इतना जरूर कहना चाहते हैं कि चुनावों से पहले प्रधानमंत्री और उन्होंने खुद कई बार सार्वजनिक रूप से कहा था कि यदि भाजपा-शिवसेना गठबंधन जीतता है तो देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री होंगे। तब किसी ने भी आपत्ति नहीं की। मगर, अब वे नई मांगें लेकर आए हैं, जो भाजपा को मंजूर नहीं है। 


 

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को लेकर अमित शाह ने कहा, ‘राज्य में दो सप्ताह से ज्यादा दिन तक किसी भी दल ने सरकार बनाने का दावा नहीं किया। किसी भी राज्य में इतना समय नहीं दिया गया था। राज्यपाल ने विधानसभा का कार्यकाल समाप्त होने के बाद ही पार्टियों को आमंत्रित किया। राज्य में राष्ट्रपति शासन से सबसे ज्यादा नुकसान भाजपा को हुआ है। हम राज्य में दोबारा चुनाव के पक्ष में नहीं है। छह माह बाद इस पर कानूनी राय लेने के बाद अगला कदम उठाया जाएगा।’

संख्याबल है तो सरकार बनाएं
अमित शाह ने कहा कि आज भी अगर किसी पार्टी के पास संख्याबल है तो वह राज्यपाल से संपर्क कर सकती है। राज्यपाल ने किसी को भी मौका देने से इनकार नहीं किया है। राज्य की जनता के साथ विश्वासघात किसने किया, सब जानते हैं। विपक्ष इसे मुद्दा बनाकर सिर्फ राजनीति कर रहा है। संवैधानिक पद को राजनीति से जोड़ना लोकतंत्र के लिए स्वस्थ परंपरा नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shah broke silence on Maharashtra dispute says no new demand of Shiv Sena will be entertained