DA Image
21 नवंबर, 2020|7:48|IST

अगली स्टोरी

कर्नाटक की सीनियर IPS अधिकारी डी रूपा ने ट्विटर से लिया ब्रेक, पटाखा बैन को लेकर आई थीं चर्चा में

senior ips officer of karnataka d roopa took a break from twitter amid cracker ban debate on social

कर्नाटक की प्रमुख सचिव गृह और आईपीएस डी रूपा ने ट्विटर से ब्रेक ले लिया है। पटाखा बैन को लेकर डी रूपा ने एक ट्वीट किया था जिसके बाद वो ट्रोल हो गईं थीं। जिसके बाद अब रूपा ने ट्विटर से ब्रेक लेने का फैसला किया है। रूपा ने लिखा है कि सरकारी कर्मी होने की वजह से ट्रोल्स को उनकी भाषा में जवाब नहीं दे सकती हूं।

रूपा की ओर से पटाखा को लेकर किए गए ट्वीट का मामला शनिवार को तब और गरमा गया जब पत्रकार मोहनदास पाई के ने सीनियर आईपीएस के खिलाफ एक आर्टिकल लिखा। शनिवार को रूपा ने ट्वीट करते हुए कहा है कि मेरे ऊपर दबाव बनाने के लिए मेरे खिलाफ हैशटैग चलाए गए। सब अच्छे से जानते थे कि मैं बतौर सरकारी कर्मचारी ट्रोल्स को उनकी भाषा में जवाब नहीं दे सकती। आप बताइए ट्विटर पर ज्यादा पावरफुल कौन है?

ट्विटर से ब्रेक लेने से पहले रूपा ने एक और ट्वीट किया और कहा कि ब्रेक लेने से पहले मैं उन सिलेब्रिटीज के लिए ये वीडियो शेयर कर रही हूं जो मेरे बारे में बिना कुछ जाने बोलते हैं। यह हिंदी में है, साउथ इंडियन होने के बावजूद मैंने दूरदर्शन देखकर सीखा था।

क्या था मामला?
दरअसल, दिवाली से पहले पटाखा बैन को लेकर रूपा की @TrueIndology नाम के ट्विटर यूजर से बहस हो गई थी। डी रूपा का मानना था कि पटाखे दिवाली से जुड़ी रीति-रिवाजों का हिस्सा नहीं रहे और आतिशबाजी का जन्म 15वीं शताब्दी में हुआ, इसलिए इस पर बैन को सकारात्मक रूप में लेना चाहिए। वहीं, ट्विटर यूजर ने रूपा के दावे का विरोध किया और उदाहरण देते हुए यह बताने का प्रयास किया कि आतिशबाजी दिवाली का हिस्सा रहा है। दोनों के बीच में बहस इस हद तक पहुंच गया कि ट्विटर ने @TrueIndology को सस्पेंड कर दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Senior IPS officer of Karnataka D Roopa took a break from twitter amid cracker ban debate on social media