Self Styled Godman Nityananda inviting people to become citizens of his Nation Kailaasa - लोगों को अपने देश 'कैलासा' का नागरिक बनने का न्योता दे रहा नित्यानंद DA Image
12 दिसंबर, 2019|9:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोगों को अपने देश 'कैलासा' का नागरिक बनने का न्योता दे रहा नित्यानंद

भगोड़ा स्वयंभू बाबा नित्यानंद अब लोगों को अपने देश का नागरिक बनने के लिए न्योता दे रहा है। साथ ही देश की सरकार और व्यवस्था को चलाने के लिए वह लोगों से दान भी मांग रहा है।

screenshot from kailaasa nation website

भगोड़ा स्वयंभू बाबा नित्यानंद अब लोगों को अपने देश का नागरिक बनने के लिए न्योता दे रहा है। साथ ही देश की सरकार और व्यवस्था को चलाने के लिए वह लोगों से दान भी मांग रहा है। नित्यानंद के कथित देश की वेबसाइट पढ़कर क्रिकेटर आर अश्विन ने सोशल मीडिया पर चुटकी ली है। अश्विन ने तंज कसते हुए पूछा कि इस नए देश कैलाश की वीजा प्रक्रिया क्या है। वीजा के लिए कहां आवेदन देना होगा। क्या वहां आगमन पर वीजा सुविधा मिलेगी। अश्विन के इस ट्वीट के बाद ट्विटर यूजर्स ने नित्यानंद को खूब ट्रोल किया। उसके फोटो और वीडियो के साथ कई मजाकिया मीम्स वायरल हुए।

भगोड़ा नित्यानंद ने बनाया अपना देश 
पुलिस देशभर में भगोड़े नित्यानंद उर्फ राजशेखरन की तलाश कर ही रही थी कि खबर आई कि  उनने दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के मध्य में इक्वाडोर के पास एक द्वीप को खरीदकर उस पर एक नया देश हिंदू राष्ट्र कैलाश बसा दिया है। अब उसके पास उसका खुद का पासपोर्ट भी है। कथित देश कैलाश की वेबसाइट के मुताबिक यह सीमा रहित राष्ट्र है, जिसे दुनिया भर के बेदखल हिंदुओं ने बसाया है, जिन्हें उनके अपने देश में प्रामाणिक रूप से हिंदू धर्म का अभ्यास करने की अनुमति नहीं है।

about the nation kailaasa  screenshot from kailaasa website

सब कुछ मुफ्त का दावा
वेबसाइट में कहा गया है, कैलाश को न सिर्फ सनातन हिंदू धर्म की रक्षा और संरक्षण के लिए, और उसे पूरे विश्व से रूबरू कराने के लिए बनाया गया है। बल्कि इसके जरिए उत्पीड़न की ऐसी कहानी भी बताई जाएगी, जो अभी तक दुनिया को पता नहीं है। यह नया देश एक मंदिर आधारित पारिस्थितिकी के साथ तीसरी आंख के पीछे का विज्ञान, योग, ध्यान और गुरुकुल शिक्षा पद्धति का भी दावा करता है। साथ ही सभी को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाओं, मुफ्त शिक्षा, मुफ्त भोजन और एक मंदिर आधारित जीवन प्रणाली देने की बात भी कहता है।

ये भी पढ़ें  स्वयंभू बाबा नित्यानंद भागा विदेश, बना लिया खुद का साम्राज्य!

अलग झंडा, तीन भाषाएं
इस देश का अपना तिकोना झंडा है, जिस पर परमशिव और नंदी का चित्र है और इसे ऋषभ ध्वज नाम दिया गया है। इसकी मुख्य भाषाएं अंग्रेजी, संस्कृत और तमिल हैं। वेबसाइट पर किए गए दावे के अनुसार नए देश की सरकार में आंतरिक सुरक्षा, रक्षा, कोषागार, वाणिज्य, आवास, मानवीय सेवाएं और शिक्षा जैसे विभिन्न मंत्रालयिक विभाग हैं।  

खाली पड़ा है बिदादी आश्रम
विवादित स्वामी नित्यानंद का मुख्य आश्रम बिदादी लगभग खाली पड़ा है और वहां की व्यवस्था देखने वाले लोग नदारद हैं। नित्यानंद पर अवैध तरीके से बच्चों को कैद में रखने और बलात्कार का आरोप है। नित्यानंद के देश में 10 से 15 आश्रम हैं। उसका मुख्य कामकाज तमिलनाडु और गुजरात में है।

mission of the nation kailaasa  sreenshot from kailaasa website

2010 में खुला था पहला कारनामा
बिदादी आश्रम में ही पहली बार विवादित धर्मगुरु का पहला कारनामा 2010 में सामने आया था। एक अभिनेत्री के साथ आपत्तिजनक स्थिति में उसका एक वीडियो वायरल हो गया था और इसके बाद करीब आठ साल तक वह गुमनामी में चला गया। 

2018 में नजर आया नया किरदार
एक साल पहले वह अपने नए अवतार में प्रकट हुआ। इस बार वह भूरे रंग के कपड़े और शेर की खाल पहने हुए था। उसकी दाढ़ी मूंछ बढ़ी हुई थी। वह हाथ में त्रिशूल लिए था और गले में मनके की माला पहनी थी।

2019 आश्रम से गायब हुई लड़कियां
पिछले महीने ही नित्यानंद के अहमदाबाद आश्रम योगिनी सर्वज्ञपीठम में दो लड़कियों के गायब होने के बाद उसके खिलाफ एक एफआईआर दर्ज हुई। उस पर बच्चों अपहरण और उनके जरिए गलत तरीके से आश्रम के अनुयायियों से चंदा जमा करने के आरोप लगे।

पाइए देश-दुनिया की हर खबर सब सेपहले www.livehindustan.com पर। लाइव हिन्दुस्तान से हिंदी समाचार अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारा News App और रहें हर खबर से अपडेट।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Self Styled Godman Nityananda inviting people to become citizens of his Nation Kailaasa