DA Image
17 सितम्बर, 2020|7:25|IST

अगली स्टोरी

आतंकियों के गढ़ में घुसकर ताबड़तोड़ ऑपरेशन चला रहे सुरक्षा बल, ग्राउंड नेटवर्क तोड़ने में काफी सफलता

security forces operation against terrorist in their stronghold in jammu and kashmir

आतंकियों का गढ़ खत्म करने में रात दिन मशक्कत कर रहे सुरक्षा बलों को ढाई से तीन फीसदी मामलो में सफलता मिलती हैं। कई बार ये प्रतिशत और भी कम होता है। सुरक्षा बल से जुड़े सूत्रों का कहना है कि बीते वर्ष में तकरीबन 3600 कॉर्डन एंड सर्च ऑपरेशन किए गए। इनमें से 93 सफल हुए। सुरक्षा बल के एक बड़े अधिकारी ने कहा हम सूचनाओं पर लगातार इलाके को घेरकर सघन जांच व कार्रवाई का अभियान चलाते हैं। कई बार आतंकी भागने में सफल होते हैं। सुरक्षा बल आतंकियों के गढ़ में घुसकर ताबड़तोड़ अभियान चला रहे हैं।

सघन आबादी में काफी दुरूह ऑपरेशन होता है क्योंकि आतंकी एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट होते रहते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि आतंकी सुरक्षा बलों के पहुंचने से पहले ही अपना लोकेशन बदल लेते हैं। अधिकारी ने कहा कि हम अपना लक्ष्य हासिल करने तक सघन पड़ताल जारी रखते हैं। यही वजह है कि आजकल भर्ती हो रहे आतंकी ज्यादा समय तक अपनी गतिविधि नहीं चला पाते।

कड़ी मेहनत से तोड़ रहे नेटवर्क
अधिकारी ने कहा कि सेना, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस कड़ी मेहनत करके आतंकियों के सफाए में जुटी हैं। उनका ग्राउंड नेटवर्क तोड़ने में भी सुरक्षा बलों को काफी सफलता मिल रही है।

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर में लश्कर के नेटवर्क को फिर से खड़ा करने की साजिश का पर्दाफाश

लगातार हो रही कार्रवाई
अधिकारियों के मुताबिक आतंकियों के सफाए के साथ उन्हें लॉजिस्टिक उपलब्ध कराने वाले और पनाह देने वालों पर सुरक्षा बलों ने लगातार कार्रवाई की है। जो भी लोग उनके संदेश वाहक का काम करते हैं। उन्हें शरण देते हैं और उनके लिए खुफिया जासूसी काम करते हैं उन सभी लोगों को पकड़कर चेताया गया और जरूरी होने पर सैकड़ों लोगों के खिलाफ पीएसए के तहत भी कार्रवाई की गईं।

हमले की कोशिश हो रही विफल
सुरक्षा बल से जुड़े सूत्रों ने कहा कि आतंकी गुट इस कोशिश में है कि कोई बड़ा हमला करके अपने काडर को उत्साहित करें, लेकिन उनकी योजना को विफल करने के लिए ताबड़तोड़ ऑपरेशन जारी हैं। इसकी वजह से मुठभेड़ में आतंकी मारे जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- फारुख और उमर अब्दुल्ला को रास नहीं आ रहा जम्मू-कश्मीर से '370' की समाप्ति, बोले- लोकतांत्रिक तरीके से लड़ेंगे लड़ाई

गढ़ छोड़कर भागने को मजबूर आतंकी
सूत्रों ने कहा इस समय दक्षिण कश्मीर में सुरक्षा बल उन इलाकों में भी घुसने का प्रयास कर रहे हैं जहां अमूमन आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई काफी मुश्किल रही है। सुरक्षा बलों के बेहतर समन्वय के चलते आतंकी अपना गढ़ छोड़ने को मजबूर हो रहे हैं। एक आला अधिकारी ने कहा कि इस वक्त आतंकियों की संख्या को 200 के भीतर सीमित कर दिया गया है, जबकि पाकिस्तान 350-400 का एक क्रिटिकल नम्बर बनाने के लिए घुसपैठ की हर सम्भव कोशिश कर रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Security forces operation against terrorist in their stronghold in Jammu and Kashmir