ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशसीबीआई छापे से भड़के सत्यपाल मलिक, बोले- मैं बीमार हूं, फिर भी तानाशाह कर रहा परेशान

सीबीआई छापे से भड़के सत्यपाल मलिक, बोले- मैं बीमार हूं, फिर भी तानाशाह कर रहा परेशान

सत्यपाल मलिक का कहना है कि सीबीआई ने उनके घर पर यह छापेमारी ऐसे वक्त में की है, जब वह बीमार होने के चलते अस्पताल में भर्ती हैं। सत्यपाल मलिक ने कहा कि वह पिछले 3-4 दिनों से बीमार चल रहे हैं।

सीबीआई छापे से भड़के सत्यपाल मलिक, बोले- मैं बीमार हूं, फिर भी तानाशाह कर रहा परेशान
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली बागपतThu, 22 Feb 2024 01:12 PM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक के आवास पर गुरुवार को सीबीआई की टीम पहुंची। एजेंसी के अधिकारियों ने इस दौरान उनके घर पर कीरू हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट में हुए घोटाले से जुड़े दस्तावेज खंगाले। अपने घर पर सीबीआई की टीम पहुंचने से सत्यपाल मलिक भड़क गए हैं और उन्होंने बिना नाम लिए ही सीधे पीएम मोदी पर निशाना साधा है। सत्यपाल मलिक का कहना है कि सीबीआई ने उनके घर पर यह छापेमारी ऐसे वक्त में की है, जब वह बीमार होने के चलते अस्पताल में भर्ती हैं।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि वह पिछले 3-4 दिनों से बीमार हैं। सत्यपाल मलिक ने ट्वीट किया, 'पिछले 3-4 दिनों से मैं बीमार हूं ओर अस्पताल में भर्ती हूं। इसके वावजूद मेरे मकान में तानाशाह द्वारा सरकारी एजेंसियों से छापे डलवाए जा रहें हैं। मेरे ड्राइवर, मेरे सहायक के ऊपर भी छापे मारकर उनको बेवजह परेशान किया जा रहा है। मैं किसान का बेटा हूं। इन छापों से घबराऊंगा नहीं। मैं किसानों के साथ हूं।' 

एक और ट्वीट करते हुए सत्यपाल मलिक ने कहा कि मेरे पास 4-5 कुर्ते से ज्यादा कुछ नहीं मिलेगा। सत्यपाल मलिक ने लिखा, 'मैंने भ्रष्टाचार में शामिल जिन व्यक्तियों की शिकायत की थी की उन व्यक्तियों की जांच ना करके मेरे आवास पर CBI द्वारा छापेमारी की गई है। मेरे पास 4-5 कुर्ते पायजामे के सिवा कुछ नहीं मिलेगा। तानाशाह सरकारी एजेंसियों का ग़लत दुरुपयोग करके मुझे डराने की कोशिश कर रहा है। मैं किसान का बेटा हूं, ना में डरूंगा, ना झुकूंगा।'

इस तरह सत्यपाल मलिक ने अपने इरादे जाहिर कर दिए कि वह किसान आंदोलन का समर्थन करते रहेंगे। बता दें कि सत्यपाल मलिक ने इससे पहले 2020-21 में हुए किसान आंदोलन का भी समर्थन किया था और सरकार पर उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

सत्यपाल मलिक के घर सीबीआई की रेड, कुल 30 ठिकानों पर एजेंसी का ऐक्शन

जम्मू-कश्मीर के अलावा मेघालय और गोवा के भी राज्यपाल रहे सत्यपाल मलिक मोदी सरकार के खिलाफ लगातार मुखर रहे हैं। उन्होंने ही जम्मू-कश्मीर में किश्तवाड़ के पास कीरू हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट में घोटाले का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि 2200 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट की मंजूरी वाली फाइल उनके पास भी आई थी। उन्हें कहा गया था कि यदि वह फाइल को पास कर दें तो 300 करोड़ रुपये की रिश्वत उन्हें मिलेगी। सत्यपाल मलिक ने दावा किया था कि उन्होंने इस फाइल को पास नहीं किया था। उनके इस आरोप के बाद ही एजेंसी ने केस दर्ज किया था और अप्रैल 2022 से ही मामले की जांच कर रही है।

सीबीआई की टीम दिल्ली के आरकेपुरम स्थित सत्यपाल मलिक के घर के अलावा उनके बागपत वाले पैतृक आवास भी पहुंची। टीम ने पूर्व राज्यपाल की संपत्ति का ब्यौरा जुटाया और पारिवारिक लोगों से पूछताछ की। सीबीआई टीम अभी भी सत्यपाल मलिक के पारिवारिक भाई के यहां डेरा जमाए हुए है। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल रहे सत्यपाल मलिक बागपत के सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के हिसावदा गांव के रहने वाले हैं। हालांकि पिछले कई वर्षों से वे परिवार के साथ दिल्ली के आरके पुरम में रहते हैं।  

सत्यपाल मलिक के गांव पहुंची सीबीआई तो मचा हड़कंप

गुरुवार सुबह सीबीआई की गाजियाबाद शाखा की पांच सदस्यीय टीम सत्यपाल मलिक के पैतृक गांव पहुंची। टीम ने सतपाल मलिक के पारिवारिक लोगों से पूर्व राज्यपाल की संपत्ति का ब्यौरा जुटाया। इसके बाद टीम ने सत्यपाल मलिक के मकान के फोटो लिए। इस दौरान सत्यपाल मलिक के पारिवारिक भाई सत्यवीर मलिक ने फोन से टीम की सत्यपाल मलिक की बात कराई। बताया जाता है कि टीम ने सत्यपाल मलिक से संपत्ति के बारे में जानकारी जुटाई और उनका कुशल क्षेम जाना। अभी भी टीम हिसावदा गांव में डेरा जमाए हुए है। वहीं, पूर्व गवर्नर के मकान पर सीबीआई पहुंचने के बाद गांव में हड़कंप जैसी स्थिति बनी हुई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें