ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशनंबर वन राज्य को जंगलराज बना दिया, नफे सिंह राठी की हत्या से बिफरे सत्यपाल मलिक

नंबर वन राज्य को जंगलराज बना दिया, नफे सिंह राठी की हत्या से बिफरे सत्यपाल मलिक

नफे सिंह राठी की खौफनाक हत्या पर पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार ने हरियाणा को जंगलराज बना दिया है, जो विकास में नंबर वन हुआ करता था।

नंबर वन राज्य को जंगलराज बना दिया, नफे सिंह राठी की हत्या से बिफरे सत्यपाल मलिक
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 26 Feb 2024 11:41 AM
ऐप पर पढ़ें

हरियाणा के झज्जर में इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह की राठी की हत्या पर सूबे में उबाल है। बहादुरगढ़ में इस हत्याकांड के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी हो रहे हैं। इस बीच पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने हरियाणा की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की खट्टर सरकार किसानों के साथ तो अपराधियों जैसा व्यवहार करती है। लेकिन आज अपराधी अपराध से पहले व अपराध के बाद भी खुलेआम घूम रहे है। इस तरह उन्होंने नफे सिंह के मर्डर को किसान आंदोलन से भी जोड़ दिया। उन्होंने कहा कि अपराधी यदि खुलेआम घूम रहे हैं तो यह चिंता की बात है।

सत्यपाल मलिक ने एक्स पर लिखा, 'हरियाणा में इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक श्री नफे सिंह राठी जी की गोली मारकर हत्या करने का समाचार बेहद दुःखद है। भाजपा सरकार ने आज विकास में नं 1 हरियाणा प्रदेश को जंगलराज बना दिया है। हरियाणा की खट्टर सरकार किसानों के साथ तो अपराधियों जैसा व्यवहार करती है, परंतु आज़ अपराधी अपराध से पहले व अपराध के बाद भी खुलेआम घूम रहे है। दिवंगत आत्मा को मेरी श्रद्धांजलि व परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं। ईश्वर से प्रार्थना है कि परिवारजनों को यह कष्ट सहन करने की शक्ति प्रदान करें।'

बता दें कि पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक पिछले कई सालों से केंद्र सरकार एवं भाजपा के खिलाफ मुखर रहे हैं। मौजूदा किसान आंदोलन से पहले जब 2020 में करीब एक साल लंबा विरोध चला था, तब भी वह मोदी सरकार पर भड़के थे। उन्होंने खुद के जम्मू-कश्मीर का गवर्नर रहते हुए हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट की फाइल में करप्शन का ऑफर मिलने की बात भी कही थी। उनका कहना था कि 2200 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट के लिए मुझे 300 करोड़ रुपये की रिश्वत का ऑफर मिला था, लेकिन मैंने उसे खारिज कर दिया था। बता दें कि इस मामले की फिलहाल सीबीआई जांच कर रही है और बीते सप्ताह उनके ठिकानों पर भी एजेंसी ने छापेमारी की थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें