ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशसंदेशखाली RSS का गढ़; बंगला में बवाल पर ममता का विस्पोट, बोलीं- ED की वजह से भड़की हिंसा

संदेशखाली RSS का गढ़; बंगला में बवाल पर ममता का विस्पोट, बोलीं- ED की वजह से भड़की हिंसा

संदेशखाली में 5 जनवरी को राशन भ्रष्टाचार की जांच के दौरान शाहजहां का नाम सामने आया था। जांच के लिए केंद्रीय एजेंसी शाहजहां के घर में प्रवेश करने की मंशा से आगे बढ़ी मगर घर में नहीं घुस पाई।

संदेशखाली RSS का गढ़; बंगला में बवाल पर ममता का विस्पोट, बोलीं- ED की वजह से भड़की हिंसा
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताThu, 15 Feb 2024 05:40 PM
ऐप पर पढ़ें

टीएमसी सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा में कहा कि संदेशखाली में आरएसएस का गढ़ है। उन्होंने तृणमूल नेता शाहजहां शेख को लेकर भी अपना बयान दिया। उन्होंने कहा कि संदेशखाली में इतने शोर के पीछे ईडी का हाथ है। ये वही लोग हैं जिन्होंने शाहजहां को निशाना बनाकर संदेशखाली में घुसकर उत्पात मचाया था। गुरुवार को विधानसभा में ममता ने कहा, ''ईडी शाहजहां को निशाना बनाकर संदेशखाली में दाखिल हुई। वहां गड़बड़ी कर अल्पसंख्यकों और आदिवासियों के बीच परेशानी पैदा की जा रही है। वहां आरएसएस का गढ़ है।" ममता बनर्जी ने इशारों में कहा कि चेहरे पर फेस मास्क पहनकर शोर मचाया जा रहा है। संदेशखाली में बाहरी लोग शोर मचा रहे हैं।

5 जनवरी को ईडी शाहजहां के संदेशखाली स्थित घर की तलाशी लेने पहुंची थी। राशन भ्रष्टाचार की जांच के दौरान शाहजहां का नाम सामने आया था। लेकिन उस दिन केंद्रीय एजेंसी शाहजहां के घर में प्रवेश नहीं कर सकी। इस दौरान ईडी के अधिकारियों पर शाहजहां के समर्थक टूट पड़े। ईडी ने बाद में कोर्ट को बताया कि शाहजहां उस दिन घर पर ही थे। उसने अंदर से आवाज देकर लोगों को बाहर इकट्ठा कर लिया। इसके बाद वह पिछले दरवाजे से भाग गया। तभी से शाहजहां लापता है। न तो पुलिस और न ही ईडी उसे ढूंढ पा रही है। कई बार उन्हें साल्ट लेक स्थित ईडी कार्यालय में बुलाया गया। मगर शहजहां वहां नहीं जाता है। इसके शाहजहां ने कोर्ट वकील के माध्यम से अग्रिम जमानत की मांग की। उन्होंने कहा कि अगर ईडी उन्हें गिरफ्तार नहीं करती है तो वह पेश होने को तैयार हैं।

पिछले कुछ दिनों से संदेशखाली उबर रहा है जिसके केंद्र में शाहजहां है। वहां के ग्रामीण शाहजहां समेत इलाके के कई तृणमूल नेताओं पर इलाके में अत्याचार का आरोप लगाते हुए सड़कों पर उतर आए हैं। उन्होंने शाहजहां की गिरफ़्तारी की मांग की। शाहजहां के अलावा तृणमूल ब्लॉक अध्यक्ष शिबू हाजरा और क्षेत्रीय अध्यक्ष उत्तम सरदार भी लिस्ट में हैं। संदेशखाली की महिलाओं ने शाहजहां की गिरफ्तारी की मांग को लेकर थाने का घेराव किया वहीं शिबू की पोल्ट्री फार्म में आग लगा दी गई।

शिबू समेत तृणमूल खेमे ने पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा और सीपीएम इलाके को भड़का कर गड़बड़ी रोक रही है। शिबू की शिकायत के आधार पर सीपीएम के पूर्व विधायक शेखर सरदार, बीजेपी नेता विकास सिंह समेत कई लोगों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। संदेशखाली में पिछले कुछ दिनों से तनाव बना हुआ है। उस पर मुख्यमंत्री ने विधानसभा में अपना मुंह खोला। उन्होंने संदेशखाली में अशांति के लिए ईडी और बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें