DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोरेगांव-भीमा हिंसा में संभाजी, मिलिंद मुख्य साजिशकर्ता: रिपोर्ट

भीमा कोरेगांव हिंसा(एचटी फाइल फोटो)

पुणे के डिप्टी मेयर की अगुआई में तथ्यों का पता लगाने वाली एक समिति ने दावा किया है कि कोरेगांव-भीमा गांव में एक जनवरी को हुई हिंसा पहले से योजना बनाकर अंजाम दी गई थी और दक्षिणपंथी कार्यकर्ता संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोटे इसके मुख्य साजिशकर्ता थे। 

डिप्टी-मेयर सिद्धार्थ ढेंडे की अगुआई वाली बहु सदस्यीय समिति ने मंगलवार को इस मामले की जांच कर रही पुणे ग्रामीण पुलिस को अपनी रिपोर्ट सौंपी। कोरेगांव-भीमा में हुई हिंसा की जांच के लिए महाराष्ट्र सरकार ने दो सदस्यीय न्यायिक आयोग का गठन किया है जबकि कई स्वतंत्र, तथ्यों का पता लगाने वाली समितियां हैं जो अपने स्तर पर हिंसा की जांच कर रही हैं।

ऐसी ही एक समिति ढेंडे की अगुआई वाली है। अपनी रिपोर्ट के बारे में ढेंडे ने कहा कि हमारी समिति के सदस्यों ने उन जगहों का दौरा किया है जहां हिंसा हुई। घटनास्थल के दौरों के साथ ग्रामीणों एवं पुलिसकर्मियों के साक्षात्कार भी किए। रिपोर्ट में दावा किया गया कि यह पहले से योजना बनाकर की गई हिंसा थी।

दोषियों ने घटनास्थल पर पहले ही सारे इंतजाम कर लिए थे, वहां पहले से डंडे और पत्थर इकट्ठा थे। रिपोर्ट में एकबोटे और भिड़े को हिंसा का मुख्य साजिशकर्ता बताया गया है। ढेंडे ने कहा, ‘एकबोटे और भिड़े प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से हिंसा में शामिल थे। उनके साथ कुछ पुलिसकर्मी भी थे जिन्होंने समय रहते कार्रवाई नहीं की।’हालांकि एकबोटे और भिड़े हिंसा में अपनी भूमिका से पहले ही इनकार कर चुके हैं।

सरकार ने अब तक नहीं सुनी हार्दिक की मांग, अनशन 19वें दिन भी जारी

आम आदमी पार्टी के चुनाव चिह्न पर खतरा, चुनाव आयोग ने थमाया नोटिस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sambhaji Milind main conspirator police report in Koregaon Bhima violence