DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CBI विवाद पर बोले अखिलेश यादव, कैसे सरकार के तोते उड़ गये हैं

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सीबीआई में जारी घटनाक्रम का जिक्र करते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि संस्थाओं को खत्म करने का काम सबसे ज्यादा भाजपा ने ही किया है।

अखिलेश ने यहां संवाददाताओं से कहा ''आज देश की संस्थाओं पर ताले लग रहे हैं। आखिर कौन सी ऐसी संस्था है जो बची रह गयी है। किसी भी सरकार या राजनीतिक दल को संस्थाओं से खिलवाड़ नहीं करना चाहिये। आप ऐसा करेंगे तो जनता किस पर विश्वास करेगी। संस्थाओं को खत्म करने का काम सबसे ज्यादा भाजपा ने ही किया है। देश का बैंकिंग तंत्र चौपट हो गया। यह सीबीआई से ज्यादा बड़ा संकट लाएगा।

प्रदर्शन के दौरान राहुल को हिरासत में लिया,थाने में बिताए 50 मिनट

उन्होंने सीबीआई में जारी घटनाक्रम की तरफ इशारा करते हुए कहा ''जिस संस्था के बहाने हमें, आपको डराया जाता था। सरकारें डराती थीं, आज सोचो सरकार कैसे चुपचाप बैठ गयी है। कैसे सरकार के तोते उड़ गये हैं।''

अखिलेश ने कहा ''देश की एक-एक संस्था पर प्रश्नचिह्न लग रहा है। कौन किसको बचा रहा है। सरकारों ने सीबीआई का गलत इस्तेमाल किया है। उससे बहुत से लोगों को डराया है। सपा अध्यक्ष ने कहा ''प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के लोगों ने पिछली फरवरी में लखनऊ में बड़े तामझाम के साथ इन्वेस्टर्स समिट की थी। सरकार बताए कि कितने निवेशक आये और कौन सा बैंक उन्हें सहयोग कर रहा है। हमें पता लगा है कि इन्वेस्टर्स समिट के आयोजन में लगी चीनी लाइट में घोटाला कर दिया गया है। मगर हम अब तो इसकी सीबीआई जांच की मांग भी नहीं कर सकते।  

SC के आदेश पर सुरजेवाला बोले,कोर्ट का आदेश तानाशाहों के चेहरे पर तमाचा  

उन्होंने एक सवाल पर कहा ''राफेल जैसे इतने बड़े समझौते पर अगर सवाल खड़े हुए हैं तो भाजपा को सचाई के साथ जरूर सामने आना चाहिये। इस डील का सच जानने के लिये सपा ने संयुक्त संसदीय समिति के गठन की मांग की है। अगर यह समिति बन गयी तो जनता को बहुत से सवालों का जवाब मिल जाएगा।

आलोक वर्मा मामले पर बोले जेटली, निष्पक्ष जांच हो और सच्चाई बाहर आए

अखिलेश ने कहा कि बड़ी वाहवाही के साथ हुई नोटबंदी का नतीजा यह है कि आजादी के बाद देश में पहली बार बैंक घाटे में आ गये हैं। नोटबंदी से देश में निवेश ही नहीं बल्कि खुशहाली भी रुकी है। आज लोग बैंकों का पैसा लेकर विदेश में बैठे हैं। अगर सिर्फ 2000 प्रमुख कर्जदार लोग अपना ऋण वापस कर दें तो शायद बैंकों में फिर से खुशहाली आ जाएगी। इन लोगों ने पूरी की पूरी अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है।

सीबीआई डायरेक्टर वर्मा की अर्जी पर केंद्र, CBI और CVC को SC का नोटिस

उन्होंने कहा कि आज हालत यह है कि मौजूदा सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था का यह हाल है कि दुनिया में भारत का नौजवान सबसे ज्यादा दुखी है। लोग अपने सपनों को पूरा करने के लिये ना जाने कितनी मेहनत करते हैं। दुर्भाग्य है कि मौजूदा सरकार ने जिस तरह की व्यवस्था बनायी है, उसमें आज के युवा सपने भी नहीं देख सकते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Samajwadi party president Akhilesh Yadav Comment over CBI Dispute