ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशयह सरासर झूठ है; CAG की रिपोर्ट पर बंगाल में बवाल, भाजपा के आरोपों पर ममता का तीखा हमला

यह सरासर झूठ है; CAG की रिपोर्ट पर बंगाल में बवाल, भाजपा के आरोपों पर ममता का तीखा हमला

सीएजी की रिपोर्ट को लेकर टीएमसी और भाजपा के बीच ठन गई है। जहां भाजपा ने सीएजी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए टीएमसी सरकार को घेरा है वहीं टीएमसी ने इसे निराधार बताया।

यह सरासर झूठ है; CAG की रिपोर्ट पर बंगाल में बवाल, भाजपा के आरोपों पर ममता का तीखा हमला
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताFri, 02 Feb 2024 06:46 PM
ऐप पर पढ़ें

पश्चिम बंगाल में सीएजी की रिपोर्ट को लेकर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच ठन गई है। जहां भाजपा ने सीएजी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए टीएमसी सरकार को घेरा है, वहीं ममता बनर्जी ने इस सभी आरोपों को निराधार बताया है। ममता बनर्जी केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठी हैं। बनर्जी ने आरोप लगाया है कि केंद्र ने राज्य सरकार को उचित धन आवंटन नहीं किया। इसके लिए उनका यह आंदोलन जारी रहेगा। वहीं भाजपा ने बुधवार को सीएजी की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस शासित पश्चिम बंगाल में लगभग 2 लाख करोड़ रुपये के घोटाले हुए हैं जो सभी घोटालों की जननी है।

ममता ने किया आरोपों का खंडन
इन आरोपों का खंडन करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, "ऐसा कभी नहीं हुआ। यह 2003 की बात कह रहे है और मैं 2003 में सत्ता में थी ही नहीं? मैं 2011 से जिम्मेदारी लूंगी। सारे प्रमाणपत्र खारिज हैं, यह सरासर झूठ है। 2 लाख करोड़ का स्कैम सरासर बेबुनियाद है। सीएजी के पास लिखने के लिए कोई जानकारी नहीं थी कि क्या नहीं लिखना! यह पूरी तरह से गलत जानकारी है। यह बीजेपी पार्टी द्वारा लिखा गया था।" अपने बयानों के जरिए ममता बनर्जी ने सीएजी रिपोर्ट को व्यावहारिक रूप से खारिज कर दिया।

वहीं भाजपा बार-बार दावा कर रही है कि सीएजी रिपोर्ट ने राज्य सरकार के लगभग असीमित भ्रष्टाचार को उजागर किया है। एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा पश्चिम बंगाल के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली राज्य सरकार पर जनता के पैसे को अपने पैसे की तरह मानने का आरोप लगाया। मजूमदार ने कहा, "उनकी सरकार ने हर जगह जनता का पैसा लूटने की कोशिश की है। सीएजी रिपोर्ट उनकी सरकार के चेहरे पर तमाचा है और इसे उजागर करती है।"

गौरव भाटिया ने की कड़े शब्दों में टिप्पणी
कड़े शब्दों में टिप्पणी करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में सभी घोटालों की मां का पता चला है, भले ही बनर्जी "मां, माटी और मानुष" के बारे में बात करती हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष एक 'चोर' और 'भ्रष्टों की सरगना' हैं। भाटिया ने कहा, ''यह दो विचारधाराओं की लड़ाई है'' और दावा किया कि इंडिया ब्लॉक के सभी घटक एक ऐसी विचारधारा का हिस्सा हैं जो भ्रष्टाचार और पारिवारिक शासन पर केंद्रित है, जबकि मोदी सरकार ईमानदारी को बढ़ावा देने और समाज को भ्रष्टाचार से मुक्त कराने के लिए समर्पित है।

भाटिया और मजूमदार के अनुसार, रिपोर्ट इस बात पर प्रकाश डालती है कि निर्धारित समय के भीतर पूर्ण परियोजनाओं के लिए 2.4 लाख से अधिक उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा करने की आवश्यकता थी, लेकिन राज्य सरकार द्वारा ऐसा नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि इसमें शामिल कुल धनराशि लगभग 1.95 लाख करोड़ रुपये है। दोनों नेताओं ने आरोप लगाया कि बनर्जी की सरकार ने आपातकालीन निधि से 3,400 करोड़ रुपये निकाले थे उन्होंने कहा ममता की सरकार ने पैसे का हिसाब नहीं दिया है। भाटिया ने पूछा, "क्या यह पैसा रोहिंग्याओं, उनके परिवार के सदस्यों को दिया गया था या दंगे भड़काने के लिए दिया गया था।" भाटिया ने आरोप लगाया कि चाहे कांग्रेस हो, आप हो, राजद हो या टीएमसी, किसी को यह नहीं मानना ​​चाहिए कि वे कानून से ऊपर हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह का अहंकार रखने वाले कई नेता सलाखों के पीछे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें