DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्र सरकार पर संघ की रहेगी परोक्ष नजर, सामाजिक और आर्थिक एजेंडे पर जोर

prime minister narendra modi  file pic

लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के पास भारी भरकम बहुमत होने के बावजूद उसके कामकाज पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की भी परोक्ष नजर रहेगी। संघ के एजेंडे से जुड़े कोर मुद्दों को लेकर वह सरकार के कामकाज की अपने स्तर पर समीक्षा भी करेगा और पार्टी स्तर पर जरूरी सुझाव भी देगा। भाजपा व संघ के समन्वय को और मजबूत बनाया जाएगा।

मोदी सरकार-2 ने सत्ता संभालते ही तेजी से काम शुरू किया है। पिछली सरकार के काम को आगे बढ़ाने के साथ उसके सामने नए एजेंडे भी हैं। इस बीच सरकार के उच्च स्तर पर कुछ निर्णयों को लेकर सुगबुगाहट हुई तो संघ ने उसे ठीक भी कराया। सूत्रों के अनुसार संघ नहीं चाहता है कि उच्च स्तर पर किसी तरह के मतभेद सामने आए। दरअसल संघ ने इसके संकेत पहले ही दे दिए थे। संघ प्रमुख मोहन भागवत ने हाल में एक कार्यक्रम में स्पष्ट किया था कि जो लोकतांत्रिक व्यवस्था से चुनकर आते हैं उनके पास अधिकार बहुत होते हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि इन अधिकारों का कहीं गलत उपयोग किया जाए। अगर सरकार के कदम डगमगाते दिखे तो संघ उन्हें सकारात्मक सलाह देगा।

सामाजिक और आर्थिक एजेंडे पर जोर 
सूत्रों के अनुसार संघ ने शैक्षिक, सांस्कृतिक, सामाजिक व आर्थिक मुद्दों पर अपने एजेंडे से पिछली सरकार को भी अवगत करा दिया था। साथ कहा था कि देश के व्यापक हित में इस दिशा में सरकार को काम करना चाहिए। अब उसकी इन विषयों को लेकर सरकार पर कड़ी नजर रहेगी। साल में भाजपा व संघ के बीच दो बार समन्वय बैठकें हो सकती है, जिसमें सरकार के प्रमुख मंत्री भी शामिल रहेंगे। संघ के एक प्रमुख नेता ने कहा कि चूंकि सरकार फिर से सत्ता में आई है, इसलिए नए सिरे से कुछ करने की जरूरत नहीं है। लगभग छह माह बाद समीक्षा करेंगे और जहां जो जरूरी होगा, सुझाव दिए जाएंगे।

संगठन मामलों पर भी रहेगी नजर
भाजपा में नए संगठन चुनाव भी इसी दौरान होने हैं और संघ की भी कोशिश रहेगी कि बड़े नेताओं के सरकार में जाने से संगठन कमजोर न पड़े। ऐसे में राष्ट्रीय व प्रदेश के अध्यक्षों के लेकर भी संघ की राय अहम रहेगी। जिससे सरकार व संगठन में बेहतर समन्वय के साथ संगठन अपने स्तर पर तेजी से काम कर सके। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:RSS Eyes on Centre Govt Activity