ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशकिसानों के मसीहा के पोते का ये हश्र: जयंत चौधरी को NDA मंच पर नहीं मिली जगह तो छिड़ गया विवाद

किसानों के मसीहा के पोते का ये हश्र: जयंत चौधरी को NDA मंच पर नहीं मिली जगह तो छिड़ गया विवाद

Jayant Chaudhary NDA Meeting: इस पर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने जयंत चौधरी पर कटाक्ष किया है और कहा है कि यह किसानों के मसीहा और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पोते का अपमान है।

किसानों के मसीहा के पोते का ये हश्र: जयंत चौधरी को NDA मंच पर नहीं मिली जगह तो छिड़ गया विवाद
jayant chaudhary
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 07 Jun 2024 07:45 PM
ऐप पर पढ़ें

संविधान सदन (पुरानी संसद) के केन्द्रीय कक्ष में भाजपा सहित एनडीए के सभी घटक दलों के नवनिर्वाचित सांसदों की आज एक संयुक्त बैठक हुई, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एनडीए संसदीय दल का नेता चुना गया। इस बैठक में एनडीए घटक दलों के सभी अध्यक्षों या पार्टी के नुमाइंदों को एक मंच पर बैठाया गया था लेकिल राष्ट्रीय लोकदल के चीफ जयंत चौधरी को उस मंच पर जगह नहीं मिल सकी थी।  उन्हें नवनिर्वाचित सांसदों के साथ पिछली बेंच पर बैठा देखा गया।

इस पर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने जयंत चौधरी पर कटाक्ष किया है और कहा है कि यह किसानों के मसीहा और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पोते का अपमान है। हालांकि, आरएलडी ने कहा कि यह "कोई बड़ी बात नहीं है"। RLD नेता ने इससे भी इनकार किया है कि भाजपा के साथ कोई बड़ी डील हुई है।

समाजवादी पार्टी के सांसद राजीव राय ने इंडिया टुडे से कहा, "उन्हें (जयंत चौधरी) मंच पर सीट न देना, उस नेता का अपमान है जो किसानों के सबसे बड़े नेता चौधरी साहब के पोते हैं।" राय ने कहा, "भाजपा वही पार्टी है जो किसानों को आतंकवादी और देशद्रोही कहती है। अगर जयंत चौधरी को किसानों के सम्मान और अपने स्वाभिमान की चिंता है, तो उन्हें यह अपमान बर्दाश्त नहीं करना चाहिए।" सपा नेता इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने जयंत चौधरी से तुरंत इंडिया अलायंस में लौटने की नसीहत दे डाली। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी में जयंत का बहुत सम्मान था।

राय ने कहा, "समाजवादी पार्टी में उनका बहुत सम्मान है। उन्हें अपने आत्मसम्मान और किसानों के सम्मान के लिए एनडीए छोड़ देनी चाहिए।" उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन हर उस व्यक्ति का स्वागत कर रहा है जो आना चाहता है। राय ने कहा, "जो भी अखिलेश यादव के पास जाता है, उसका खुले दिल से स्वागत किया जाता है।" 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख अजय राय ने भी भाजपा पर अपने सहयोगियों को अपमानित करने का आरोप लगाया है। अजय राय ने कहा, "जो भी वहां (भाजपा में) जाएगा, उसके साथ यही होगा। जब कोई उनकी पार्टी में शामिल होता है, तो उसे गुलदस्ते और बड़ी मालाएं दी जाती हैं, लेकिन उन्हें स्वीकार करने के बाद उन्हें अपमानित किया जाता है।" दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी और कांग्रेस की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रीय लोक दल के विधायक अनिल कुमार ने कहा कि मंच पर बैठना या नहीं कोई बड़ी बात नहीं है। उन्होंने सवाल दागा कि इंडिया गठबंधन ने उन्हें कब सम्मान दिया था।

बता दें कि इस महत्वपूर्ण बैठक की तस्वीरों में टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू, जेडी(यू) सुप्रीमो नीतीश कुमार, एलजेपी(आर) प्रमुख चिराग पासवान और एनडीए के घटक दलों के अन्य नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच पर बैठे दिखाई दिए लेकिन जयंत चौधरी एनडीए के निर्वाचित सांसदों के बीच बैठे नजर आए।