DA Image
30 जून, 2020|11:06|IST

अगली स्टोरी

खुलासा: लॉकडाउन मानने में भारतीय दूसरे देशों से काफी बेहतर

कोरोना वायरस के कारण अप्रैल में दुनिया के तमाम देशों में लॉकडाउन रहा। इस पाबंदी का पालन करने में भारतीय सबसे आगे रहे, जबकि संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के बावजूद अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के लोग पार्कों में जमा हुए, दफ्तरों के लिए निकले और नियमों की धज्जियां उड़ाईं। गूगल के डाटा से इसका खुलासा हुआ है।

गूगल ने लोगों के फोन लोकेशन का इस्तेमाल कर बताया बताया कि पाबंदियों की वजह से पार्क, बस-रेलवे स्टेशन, किराना-दवा की दुकानों, बाजारों और दफ्तरों में लोगों के आने पर कितना असर पड़ा है। कितने लोग घर पर रहे। यह डाटा एक अप्रैल से 26 अप्रैल के बीच का है। डाटा के विश्लेषण से पता चला कि भारत में ज्यादातर लोगों ने सरकार के निर्देशों का पालन किया। स्पेन, इटली में लोगों ने नियमों का बखूबी पालन किया।

देश में स्थिति : भारत में ज्यादातर लोगों ने सरकार के निर्देशों का पालन किया। पार्क जाने वालों की संख्या में 68 फीसदी की कमी दर्ज की गई। सामान्य दिनों की तुलना में करीब आधे लोग ही किराना दुकानों में गए। दफ्तर जाने वालों की संख्या में भी 41 फीसदी की कमी आई। इतना ही नहीं सामान्य दिनों की तुलना में 22 फीसदी ज्यादा लोग घर पर रहे।

इसलिए महत्वपूर्ण : भारत में अमेरिका, इटली और स्पेन समेत कई देशों के मुकाबले हालात बेहतर हैं। यहां नए मामले तो सामने आ रहे हैं लेकिन केस दोगुने होने की दर करीब 13 दिन है। विशेषज्ञ लॉकडाउन का सख्ती से पालन होने को इसकी बड़ी वजह मान रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इन कोशिशों के लिए भारत सरकार की तारीफ की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Revealed: Indians far better than other countries in accepting lockdown