ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपाकिस्तान के साथ लगी सीमा अभेद्य नहीं होने के कारण आतंकवाद अभी तक बरकरार : अब्दुल्ला

पाकिस्तान के साथ लगी सीमा अभेद्य नहीं होने के कारण आतंकवाद अभी तक बरकरार : अब्दुल्ला

नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि भले ही जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा परिदृश्य बेहतर है पर आतंकवाद अब भी जीवित है क्योंकि पाकिस्तान के साथ सीमा अभेद्य नहीं है।

पाकिस्तान के साथ लगी सीमा अभेद्य नहीं होने के कारण आतंकवाद अभी तक बरकरार : अब्दुल्ला
Upendraभाषा,श्रीनगरTue, 11 Jun 2024 05:50 PM
ऐप पर पढ़ें

नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि भले ही जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा परिदृश्य बेहतर है पर यहां पर आतंकवाद अब भी जीवित है क्योंकि पाकिस्तान के साथ सीमा अभेद्य नहीं है। इतनी विविधता भरी सीमा को सुरक्षित रखना आसान नहीं होता है।

 रियासी आतंकवादी हमले के बारे में पूछने पर अब्दुल्ला ने बारामूला में पत्रकारों से कहा, "सुरक्षा (परिदृश्य) अच्छा है। यहां आतंकवाद है। हमारी सीमा भेद्य है और हर जगह नियंत्रण नहीं रखा जा सकता।"
उन्होंने कहा, " मुझे दुख है कि निर्दोष तीर्थयात्रियों, निहत्थे लोगों पर हमला किया गया। हम सभी, लोगों को इसकी निंदा करनी चाहिए और प्रार्थना करनी चाहिए कि ईश्वर उन लोगों को नरक में भेजे जिन्होंने ऐसा किया। इस महीने के अंत में शुरू होने वाली वार्षिक अमरनाथ यात्रा का जिक्र करते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को तीर्थयात्रा के लिए तैयार रहना चाहिए।

उन्होंने कहा, "हमने हमेशा इसका स्वागत किया है और यात्रियों को सुविधा प्रदान करने का प्रयास किया है। ईश्वर की इच्छा से इस वर्ष भी यात्रा सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न होगी।"

पाक पीएम के पीएम मोदी को दिए बधाई संदेश पर बोले- सौहार्द बनाए रखें 
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की ओर से नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में तीसरे कार्यकाल की शपथ लेने पर सोशल मीडिया के मंच एक्स के माध्यम से दी गई बधाई पोस्ट के बारे में पूछने पर, एनसी अध्यक्ष ने कहा कि दोनों समकक्ष एक-दूसरे को बधाई देते रह सकते हैं, लेकिन उन्हें अपने सौहार्द को बनाए रखना चाहिए।

आपको बता दें की नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला हाल ही में हुआ लोकसभा चुनाव बारामूला से  हार गए हैं। उन्हें एक निर्दलीय उम्मीदवार राशिद इंजीनियर ने हराया है।