DA Image
7 मई, 2021|2:43|IST

अगली स्टोरी

राकेश टिकैत बोले- 3 क्विंटल गेहूं की कीमत हो 1 तोले सोने के बराबर, MSP के लिए लागू हो उनके पिता का फॉर्मूला

kisan leader rakesh tikait said on tractor parade violence that anti-social elements had become invo

केंद्रीय कृषि कानूनों की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के लिए कानून की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि MSP के लिए सरकार उनके पिता महेंद्र टिकैत के फॉर्मूले को लागू करे। इसके मुताबिक, 3 क्विंटल गेहूं की कीमत 1 तोले सोने के बराबर होनी चाहिए। बता दें, अभी 24 कैरेट के 10 ग्राम सोने की कीमत करीब 48 हजार रुपए है, जबकि गेहूं का समर्थन मूल्य 1975 रुपए प्रति क्विंटल है।

न्यूज चैनल आज तक के 'सीधी बात' कार्यक्रम में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि MSP को लेकर सरकार उनके पिता महेंद्र सिंह टिकैत के फॉर्मूले को लागू कर दे। उन्होंने कहा, ''1967 में भारत सरकार ने गेहूं की एमएसपी 76 रुपए प्रति क्विंटल तय की थी, उस समय प्राइमरी स्कूल के टीचरों की सैलरी 70 रुपए महीने थी। वह एक महीने की सैलरी से 1 क्विंटल गेहूं नहीं खरीद सकते थे। 1 क्विंटल गेहूं की कीतम से ढाई हजार ईंट खरीद सकते थे। तब 30 रुपये की 1 हजार ईंट आती थीं।'' 

राकेश टिकैत ने कहा कि तब सोने का भाव 200 रुपए प्रति तोला था, जो तीन क्विंटल गेहूं से खरीदा जा सकता था। उन्होंने कहा, ''हमको अब तीन क्विंटल गेहूं के बदले 1 तोला सोना दे दो। जितनी कीमत और चीजों की बढ़े उतनी ही गेहूं की भी बढ़नी चाहिए।'' 

तो क्या होगी गेहूं की कीमत? 
सोने की कीमत के साथ तुलना करें तो टिकैत की मांग के मुताबिक, 1 क्विंटल गेहूं की कीमत करीब 16 हजार रुपए होगी, जोकि मौजूदा एमएसपी से 8 गुना अधिक है। इस हिसाब से एक किलो गेहूं की कीमत करीब 160 रुपए होनी चाहिए। 

गौरतलब है कि राकेश टिकैत कृषि कानूनों की वापसी की मांग पर उड़े हुए हैं। साथ ही वह सरकार से एमएसपी पर कानून की भी मांग कर रहे हैं। 26 जनवरी को हिंसा के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर संभावित पुलिस कार्रवाई से पहले भावुक होने वाले टिकैत अब आंदोलन का मुख्य चेहरा बन गए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:rakesh tikait demands mahendra tikait formula for msp 3 quintal wheat price equal to 10 gram gold