DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Rajiv Gandhi 75th Birth Anniversary: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 75वीं जयंती आज, जानें 10 खास बातें

rajiv gandhi photo livemint

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की याद के जरिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह भरा जाएगा। राजीव गांधी के 75वें जन्मदिवस के मौके पर कांग्रेस पार्टी दिल्ली भर में ही कार्यक्रमों का आयोजन करेगी। रविवार की शाम विट्ठल भाई पटेल हाउस में हुई बैठक में कार्यक्रम की तैयारियों पर चर्चा की गई। यूं तो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का जन्मदिवस 20 अगस्त को पड़ता है। लेकिन, दिल्ली कांग्रेस की ओर से 22 अगस्त को इंदिरा गांधी स्टेडियम में उनका जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

कांग्रेस (I) के शासनकाल में अक्टूबर, 1984 से दिसंबर 1989 तक देश के प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त, 1944 को हुआ था। आज उनकी 74वीं वर्षगांठ है। जब देश आजाद हुआ था तब राजीव गांधी सिर्फ 3 साल के थे और आजादी के 37 सालों बाद 40 की उम्र में वो देश के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बने। देश के इतिहास में अब तक इतनी ज्यादा सीटों के साथ कभी सरकार नहीं बनी है और भविष्य में भी ऐसा दोबारा होने की उम्मीद नहीं है। राजीव गांधी के शासनकाल में 508सीटों में से 401 सीटों पर कांग्रेस पार्टी का कब्जा था। 

आज उनकी जयंती के मौके पर जानते हैं ऐसी 10 बातें जो आप ने नहीं सुनी होगी...

1. आजाद भारत के इतिहास के सबसे कम 40 साल की उम्र में प्रधानमंत्री बने।

2. राजीव गांधी एक फ्लाइंग क्लब के मैंबर भी थे जहां से उन्होंने सिविल एविएशन की ट्रेनिंग भी ली थी। 

3. 1970 में उन्होंने एक पायलट के तौर पर एयर इंडिया ज्वाइन किया था और 1980 तक पॉलिटिक्स ज्वाइन करने से पहले तक वो एयर इंडिया के लिए काम करते रहे। 

4. नरेंद्र मोदी सरकार की ही तरह राजीव गांधी सरकार के दौरान भी देशभर में डिजीटाइजेशन और कंप्यूटराइजेशन पर विशेष ध्यान दिया गया था। 

5. 1981 में उन्हें कांग्रेस पार्टी के यूथ विंग के प्रेसिडेंट के तौर पर चुना गया था। 

6. राजीव गांधी के नेतृत्व में ही कांग्रेस पार्टी  ने 408 सीटों के बहुमत के साथ केंद्र में सरकार बनाई थी। 

7. राजीव गांधी को हिन्दुस्तानी शास्त्रीय और आधुनिक संगीत पसंद था, उन्हें रेडियो सुनने तथा फोटोग्राफी का भी शौक था। राजीव गांधी को सुरक्षाकर्मियों का घेरा बिलकुल पसंद नहीं था। वे अपनी जीप खुद ड्राइव करना पसंद करते थे।

8. देश में बिजली, तकनीक और कंप्यूटर सेवा बहाल करने पर उनका हमेशा से जोर था और आज देश में अगर इतनी तेजी से कंप्यूटर तकनीक बदली है तो इसमें राजीव गांधी का योगदान अमूल्य माना जाएगा। 

9. 21 मई 1991 को  राजीव गांधी विशाखापट्टनम से चुनावी अभियान को पूरा करने के बाद श्रीपेरुंबदूर में रुके जो कि मद्रास से 22 किलोमीटर दूर है। यहां पर वह अपनी कार से उतकर उस जगह की ओर पैदल ही चल पड़े जहां से उन्हें भाषण देना था।  

10. इसी इवेंट के दौरान एलटीटीई (श्रीलंका में अलगाववादी मूवमेंट चला रहा एक ग्रुप) ने उनकी हत्या कर दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rajiv Gandhi 75th Birth Anniversary Today 10 Important Things