rajinikanth film kala protest in Karnataka due to statements on Kaveri - कर्नाटक में रजनीकांत के ‘काला’ का विरोध क्यों, जानिए वजह DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक में रजनीकांत के ‘काला’ का विरोध क्यों, जानिए वजह

रजनीकांत काला

रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ के विरोध को कारण उनका कावेरी जल विवाद पर दिया गया एक बयान है। रजनीकांत ने कहा था कि कर्नाटक को कावेरी से तमिलनाडु के हिस्से का पानी छोड़ना चाहिए। इस बयान की कर्नाटक के मुख्यमंत्री समेत वहां के लोगों ने आलोचना की थी। कावेरी मुद्दे पर रजनीकांत की टिप्पणी से नाराज होकर ‘कर्नाटक फिल्म चैंबर्स ऑफ कॉमर्स’ ने ‘काला’को प्रदर्शित करने की अनुमति ना देने का 29 मई को फैसला किया था। राज्य फिल्म फेटरनिटी से जुड़े कुछ लोगों का कहना है कि रजनीकांत के बयान से वे बुरी तरह आहत हुए हैं। 

निर्माता हाईकोर्ट पहुंचे
काला फिल्म के निर्माता के. धनुष और उनकी पत्नी ऐश्वर्या ने कर्नाटक हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल कर अनुरोध किया है कि राज्य सरकार और कर्नाटक फिल्म चेंबर ऑफ कॉमर्स (केएफसीसी) को फिल्म को सुचारू रूप से रिलीज करने के निर्देश दिए जाएं। 

रजनीकांत की कर्नाटक के लोगों से अपील

वहीं, तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने अपनी फिल्म काला को सुचारू रूप से रिलीज होने के लिए पड़ोसी राज्य कर्नाटक के लोगों से बुधवार को सहयोग मांगा। उन्होंने अपने पोएस गार्डन स्थित आवास के बाहर कन्नड़ में कहा, मैंने कोई गलती नहीं की। जो लोग फिल्म देखना चाहते हैं कृपया उन्हें कुछ न कहें। मैं आपसे सहयोग का आग्रह करता हूं। उन्होंने कहा, फिल्म की रिलीज के खिलाफ विरोध कर रहे लोगों से मैं कहना चाहता हूं कि मैंने कर्नाटक से कावेरी प्रबंधन बोर्ड का पालन करने के लिए कहा था। मुझे नहीं पता कि इसमें क्या गलत है। मैंने यह भी कहा था कि बांधों का प्रशासन बोर्ड द्वारा होना चाहिए। 

कुमारस्वामी को किया ट्वीट

फिल्म रिलीज की मांग को लेकर रजनीकांत ने बुधवार को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को ट्वीट किया। इसमें उन्होंने काला की रिलीज के लिए सिनेमाहाल के बाहर सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की है। रजनीकांत ने ट्वीट में लिखा, मैं कुमारस्वामीजी के हालात समझ सकता हूं। कर्नाटक के लिए यह ठीक नहीं है। जब फिल्म पूरी दुनिया में रिलीज हो रही है तब कर्नाटक का बैन मुद्दे (कावेरी जल विवाद) को उभारेगा।

कुमारस्वामी कर चुके हैं फिल्म  रिलीज न करने का आग्रह 

वहीं इससे पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने पांच जून को वितरकों से कहा था कि वह कर्नाटकवासी होने के नाते वितरकों से अपील करते हैं कि इस तरह के माहौल में रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ रिलीज न करें लेकिन एक मुख्यमंत्री के तौर पर वह खुद उच्च न्यायालय के आदेश का पालन इस मुद्दे पर करेंगे। साथ ही कहा था कि राज्य सरकार के रूप में मुझे उच्च न्यायालय के निर्देशों का पालन करना होगा और इसका ध्यान रखूंगा। यह मेरी जिम्मेदारी भी है। हमें उच्च न्यायालय के निर्देशों का पालन करना होगा।
          
फिल्म की कहानी पर भी विवाद
प्रसिद्ध समाजसेवी एस तिराविम के छोटे बेटे जवाहर नडार, जो पेशे से एक पत्रकार हैं उन्होंने रजनीकांत के खिलाफ केस दर्ज कराया है। उनका कहना है कि फिल्म उनके पिता पर बेस्ड है, क्योंकि उनके पिता 50 के दशक में तमिलनाडु से मुंबई गए ऐसे शख्स थे जो अपने सामाजिक कार्यों को लेकर आज तक लगभग पूजे जाते हैं। उनकी आज भी अपने समाज में काफी मान-प्रतिष्ठा है, जिसे फिल्म में गलत तरीके से पेश किया है। 

हाजी मस्तान के करीबी भी दे चुके हैं चेतावनी
वहीं, कहा जाता है कि हाजी मस्तान के करीबी लोग भी फिल्म को लेकर मेकर्स के पास पहले ही खबर पहुंचा चुके हैं कि अगर फिल्म में उन्हें लेकर कुछ गलत कहा गया है तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें। दरअसल हाजी मस्तान और एस तिराविम करीबी बताए जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:rajinikanth film kala protest in Karnataka due to statements on Kaveri