Rajasthan Political Crisis Live Updates: सचिन पायलट पर एक्शन के बाद कुछ देर में शुरू होगी अशोक गहलोत की कैबिनेट बैठक

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली, जयपुर। Last Modified: Tue, Jul 14 2020. 20:36 IST
offline

राजस्थान में सियासी घमासान के बीच कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मौजूद 102 विधायकों ने डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को दोनों पदों से हटाने का प्रस्ताव पास किया है। यह बैठक जयपुर के एक होटल में चल रही थी। आपको बता दें कि पार्टी की ओर से दूसरे दिन बुलाई गई विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट फिर शामिल नहीं हुए थे। 

इसस पहले सचिन पायलट के खुलकर बागी तेवर अपना लेने के बाद कांग्रेस ने सोमवार सुबह जयपुर में विधायक दल की बैठक बुलाई थी, लेकिन इसमें भी पायलट और उनके समर्थक विधायक नहीं पहुंचे थे। इस बैठक में शामिल विधायकों ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में आस्था प्रकट की और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रति समर्थन जताया।

Rajasthan Political Crisis Live Updates:

- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने मंत्रिमंडल की बैठक मंगलवार शाम को बुलाई है। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट व दो मंत्रियों विश्वेंद्र सिंह तथा रमेश मीणा को हटाए जाने के बाद मंत्रिमंडल की पहली बैठक होगी। पार्टी सूत्रों ने बताया कि मंत्रिमंडल की बैठक साढ़े सात बजे व मंत्री परिषद की बैठक आठ बजे होगी।

- कांग्रेस की कार्रवाई के बाद जयपुर स्थित कांग्रेस दफ्तर में लगी सचिन पायलट की नेमप्लेट को हटा दिया गया है।

- सचिन पायलट ने राज्य में राजनीतिक घटनाक्रम पर पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए मंगलवार को कहा कि सत्य को परेशान किया जा सकता है, लेकिन पराजित नहीं।

- सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री और राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष दोनों से हटा दिया गया। उनके साथ-साथ दो और मंत्रियों को भी पद से हटाने का फैसला लिया गया है। विश्वेन्द्र सिंह और रमेशचंद मीणा को मंत्री पद से बर्खास्त करने का फैसला लिया गया है। गोविंद सिंह दोतासरा को राजस्थान कांग्रेस को नया अध्यक्ष बनाया गया है।

जयपुर में आयोजित विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट का राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष पद से बर्खास्त करने का फैसला लिया गया है। इसको लेकर विधायकों ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किया है।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 102 विधायक मौजूद हैं। उन्होंने एक स्वर में सचिन पायलट को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने की मांग।

फिलहाल BJP फ्लोर टेस्ट की मांग की मूड में नहीं
राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया ने मंगलवार को कहा कि पार्टी फिलहाल विधानसभा में फ्लोर टेस्ट की मांग नहीं कर रही है। फ्लोर टेस्ट के बारे में पूछे जाने पर पूनिया ने कहा, "वर्तमान में हम अभी कुछ भी नहीं मांग रहे हैं। हमारी प्राथमिकता यह थी कि यह एक भ्रष्ट सरकार है और इसने कोरोना वायरस संकट में कुप्रबंधन किया है। यह एक कमजोर सरकार बन गई है। पहली बात यह है कि इस सरकार को राज्य के लोगों के हित के बारे में सोचना चाहिए।”

जयपुर के होटल में जारी है कांग्रेस विधायक दल की बैठक
जयपुर के फेयरमोंट होटल में कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो रही है। इससे पहले सोमवार को, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित 20 विधायक राज्य में राजनीतिक संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर आयोजित कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं हुए थे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, अहमद पटेल, पी चिदंबरम और केसी वेणुगोपाल कई बार सचिन पायलट से बात कर चुके हैं। हालांकि, सूत्रों ने कहा कि आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पायलट के शामिल होने की बहुत कम संभावना है।

राजस्थान राजनीतिक संकट पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, 'घर सजाने का तस्सवूर तो बहुत बाद में है, पहले ये तो तय करो कि घर को बचाएं कैसे। घर सजाना तब जब घर बचेगा। कांग्रेस पार्टी की लीडरशिप में नेगेटिविटी इतनी भरी हुई है कि उसका असर खुद उन्हें दिखाई पड़ रहा है।'

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस विधायक दल की बैठक बार-बार सचिन पायलट को यह संदेश भेजने के लिए की जा रही है कि अभी भी उनके वापस आने का समय है। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व के रुख में अभी भी उनके लिए लचीलापन है। आगे की कार्रवाई के बारे में आज की बैठक के बाद निर्णय लिया जाएगा।

सूत्र ने यह भी बताया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, अहमद पटेल, पी. चिदंबरम और केसी वेणुगोपाल ने कई बार सचिन पायलट से बात की है, लेकिन आज उनके सीएलपी में शामिल होने की संभावना कम है।

कांग्रेस ने दावा किया कि गहलोत सरकार को 109 विधायकों का समर्थन हासिल है। बैठक के बाद सभी विधायकों को बस से जयपुर के फेयर मॉन्ट होटल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें- सचिन पायलट और अशोक गहलोत की तकरार से कांग्रेस में फिर लौटी 'यंग बनाम ओल्ड' की लड़ाई

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सोमवार को कहा कि मंगलवार सुबह 10 बजे कांग्रेस विधायक दल की एक और बैठक होगी। इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि बागी तेवर दिखा रहे पायलट एवं कुछ अन्य विधायक इस बैठक में भाग लेंगे। उन्होंने कहा, ''एक बार फिर हम सचिन पायलट, सभी विधायक साथियों को लिखकर भी भेज रहे हैं। उनसे अनुरोध करते हैं कि आइए राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करें। राजस्थान को कैसे मजबूत करें, ये चर्चा करें। अगर किसी व्यक्ति विशेष से कोई मतभेद है तो खुले मन से वो भी कहिए, कांग्रेस नेतृत्व सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी सबकी बात सुनने और उसका हल निकालने के लिए पूर्ण रूप से तैयार हैं।"

यह भी पढ़ें- सचिन पायलट की भावी तैयारी पर टिकी भाजपा की रणनीति, सिर्फ सरकार गिराना ही काफी नहीं

सोमवार सुबह हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पारित एक प्रस्ताव में पायलट की ओर परोक्ष रूप से इशारा करते हुए कहा गया है कि अगर कोई पार्टी पदाधिकारी या विधायक इस तरह की गतिविधियों में संलिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जानी चाहिए।

हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें