DA Image
5 अगस्त, 2020|12:48|IST

अगली स्टोरी

राजस्थान संकट: CM अशोक गहलोत संग बैठक के बाद बोले कांग्रेस MLA, हमारे संपर्क में BJP विधायक

rajasthan cm ashok gehlot  file pic

1 / 2Rajasthan CM Ashok Gehlot (File Pic)

ashok gehlot  rajasthan cm  file pic

2 / 2Ashok Gehlot, Rajasthan CM (File Pic)

PreviousNext

राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट पर कांग्रेस विधायक राजेंद्र गुड्डा ने कहा कि प्रदेश में अशोक गहलोत की की सरकार के पास बहुमत है और भाजपा के साथ कुछ विधायक भी उनके संपर्क में हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार (12 जुलाई) की रात को सभी पार्टी विधायकों की एक बैठक बुलाई थी, जिसके बाद यह बयान जारी हुआ है।  राजेंद्र गुड्डा ने कहा, "गहलोत जी के पास बहुमत है. हम भी कोशिश कर रहे हैं और भाजपा के कुछ विधायक हमारे संपर्क में हैं। जितना हमें नुकसान होगा उससे कहीं अधिक हम भाजपा से विधायकों को लाएंगे।" 

राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। राज्य के उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट राजधानी दिल्ली में समर्थकों के संग पहुंचे हुए हैं और गुरुग्राम के एक रिजॉर्ट में रुके हैं। वहीं एक दिन पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया था।

एक प्रत्याशित घटना के तहत राज्य पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) की तरफ से कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने की कोशिश के आरोप में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट को नोटिस कर जारी बयान रिकॉर्ड करने के लिए समय मांगा गया है।

Rajasthan government crisis Live Updates:

राजस्थान कांग्रेस इंचार्ज अविनाश पांडे ने जयपुर में विधायकों की बैठक के बाद कहा कि कांग्रेस की सरकार मजबूत है और ये जो भी लोग हैं, हम उनका मुकाबला करेंगे।

भाजपा को बिना किसी कारण के खुश होने की जरूरत नहीं है: सुरजेवाला
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने रविवार रात कहा कि भाजपा को बिना किसी कारण के खुश होने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और विधायकों की बैठक में शामिल होने के लिए जयपुर पहुंचे सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार राज्य में पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी। उन्होंने जयपुर में संवाददाताओं से कहा कि भाजपा को बिना किसी कारण के खुश होने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस सरकार पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा करेगी।

अल्पमत में गहलोत सरकार
राजस्थान में एक महत्वपूर्ण राजनीतिक घटनाक्रम में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने रविवार रात दावा किया कि अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में है और 30 से अधिक कांग्रेस और कुछ निर्दलीय विधायकों ने उन्हें समर्थन देने का वादा किया है। एक अधिकारिक बयान में पायलट ने कहा कि वह सोमवार को होनेवाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे।

राजस्थान संकट टालने के लिए कांग्रेस आलाकमान सक्रिय
राजस्थान में गुटबाजी के संकट को टालने के लिए कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेताओं अजय माकन और रणदीप सुरजेवाला को केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर जयपुर भेजा है। सूत्रों ने कहा कि दोनों नेता पार्टी महासचिव और राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे के साथ रविवार (12 जुलाई) देर शाम तक जयपुर पहुंच जाएंगे और पार्टी विधायकों के साथ चर्चा करेंगे।

राजस्थान: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर सोमवार (13 जुलाई) सुबह 10:30 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी।

एसओजी के समन पर बोले गहलोत- राजस्थान के कई मंत्रियों और नेताओं को भेजा गया है

अशोक गहलोत ने सरकार को अस्थिर करने के प्रयास को लेकर उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट को राजस्थान पुलिस के एसओजी की तरफ से किए गए समन के बाद कहा कि मीडिया इसे अलग तरीके से पेश न करे। गहलोत ने कहा कि एसओजी को जो कांग्रेस दल ने बीजेपी नेताओं की तरफ से खरीद-फरोख्त को लेकर शिकायत की थी उस बारे में मुख्यमंत्री, उप-मुख्यमंत्री, चीफ व्हीप, कुछ मंत्रियों और विधायकों को बयान देने के लिए नोटिस भेजा गया है। कुछ मीडिया द्वारा उसे अलग रुप से प्रस्तुत करना उचित नहीं है। 

गहलोत ने आज रात बुलाई मंत्रियों और विधायकों की बैठक

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में मचे सियासी संकट के बीच जयपुर में पार्टी विधायकों और मंत्रियों की आज रात बैठक बुलाई है। सचिन पायलट के साथ तनातनी के बीच इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है।

ये भी पढ़ें: नया नहीं झगड़ा, पायलट ने 15 दिन पहले ही पार्टी नेतृत्व को किया था आगाह

एंटी करप्शन ब्यूरो ने शुरू की लालच देने वाले विधायकों के खिलाफ जांच
राजस्थान एंटी करप्शन ब्यूरो सरकार को अस्थिर करने के लिए विधायकों को प्रलोभन देने के मामले में तीन निर्दलीय विधायकों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एसीबी की इंटेलिजेंस यूनिट की तरफ से मिले इनपुट्स के आधार पर यह शिकायत दर्ज की गई है। ये तीनों विधायक हैं- किशनगढ़ से सुरेश टांक, मारवाड़ जंक्शन से खुशवीर सिंह और महुवा से ओमप्रकाश हुडला।  

केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा- गहलोत सत्ता के 2 केन्द्र नहीं संभाल पा रहे

केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि सचिन पायलट उप-मुख्यमंत्री होने के साथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष भी हैं। ऐसे में गहलोत राज्य में सत्ता के बने दो केन्द्र को नहीं संभाल पा रहे हैं।

10 जुलाई को एसओजी ने सचिन पायलट और गहलोत को किया था समन 

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट को एसओजी ने 10 जुलाई को समन कर राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने के मामले में बयान रिकॉर्ड करने के लिए समय मांगा था।

सचिन पालयट के करीबी ने एसओजी के समन को बताया 'मजाक'

सचिन पायलट के एक समर्थक नेता ने एसओजी के समन को लेकर कहा- यह अलग स्तर का अपमान है। उन्हें शनिवार को कॉल आई कि नोटिस भेजा गया है, और वे निकल गए। इस तरह से उप-मुख्यमंत्री के साथ सलूक किया जा रहा है। हालांकि, राजस्थान सरकार ने कहा कि मुख्यमंत्री को भी नोटिस भेजा गया है। लेकिन, सचिन के करीबी इसे एक मजाक करार दे रहे हैं। उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री खुद गृह विभाग के जिम्मा संभाल रहे हैं, ऐसे में कैसे उनसे पूछताछ हो सकती है? यह सोची समझी साजिश है क्योंकि इस एफआईआर से उन्हें एक वजह मिल जाएगी उप-मुख्यमंत्री पर निगरानी रखने की।

-कपिल सिब्बल ने ट्वीट पर जताया अंदेशा

इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट करते हुए इशारों में अंदेशा जताया है। सिब्बल ने कहा कि “अपनी पार्टी के लिए चिंतित हूं। क्या हम तभी जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग जाएंगे।” हालांकि, सिब्बल को जवाब देते हुए बीजेपी नेता ओमप्रकाश माथुर ने ट्वीट कर कहा, 'जहां हरियाली होगी वहीं कुलाचें भरने का मजा है ... सूखे में खुर टूट जाते हैं।'

- सचिन पायलट अपने समर्थकों संग शनिवार को पहुंचे दिल्ली

सचिन पायलट कल देर शाम करीब 15-17 समर्थक विधायकों के साथ कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने से पहुंचे। इस पूरे सियासी घटनाक्रम का कारण एक चिट्ठी को बताया जा रहा है, जिसमें पायलट को पूछताछ के लिए पेश होने के लिए कहा गया है। शुक्रवार को जारी चिट्ठी में सचिन पायलट को आतंकवाद निरोधी दस्ते और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने पूछताछ के लिए बुलाया था। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस चिट्ठी के बाद से पायलट काफी नाराज हैं। आपको बता दें कि गृह मंत्रालय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास है, ये दोनों विभाग गृह मंत्रालय के ही अधीन आते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rajasthan government crisis deepens Sachin Pilot in Delhi live updates here