DA Image
27 मई, 2020|8:30|IST

अगली स्टोरी

केरल में बारिश का कहर जारी: मृतकों की संख्या हुई 59, आज दौरे पर पहुंचेंगे राहुल

water overflowing at pazhasi dam  in kannur  kerala   ht   photo

केरल में मूसलाधार बारिश का कहर अब भी जारी है और बाढ़, भूस्खलन तथा बारिश संबंधी घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 59 हो गई है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, कोझिकोड और अलप्पुझा जिले से रविवार सुबह एक-एक शव बरामद किए गए, यहां पिछले सप्ताह से मूसलाधार बारिश जारी है।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने रविवार सुबह वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और बाढ़ की स्थिति का आकलन किया। मलप्पुरम जिले के कवलप्परा और वायनाड जिले के पुथुमाला इलाके में जारी तलाश अभियान पर भी उन्होंने चर्चा की। यहां दो भीषण भूस्खलन आने के कारण कई लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है।

दक्षिणी राज्य के 14 जिलों में कई भूस्खलन और बाढ़ आने की वजह से 1,318 राहत शिविरों में 1.65 से अधिक लोगों ने पनाह ली है। राज्य के कुछ हिस्सों में बारिश से थोड़ी राहत की खबरें हैं लेकिन भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने वायनाड, कन्नूर और कासरगोड़ में रविवार के लिए 'रेड अलर्ट जारी किया है।

ये भी पढ़ें: केरल-कर्नाटक में 125 की मौत, अमित शाह करेंगे बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी रविवार दोपहर को दो दिन के केरल दौरे पर आएंगे। वह अपने ससंदीय क्षेत्र वायनाड का दौरा करेंगे, जो सबसे अधिक प्रभावित जिलों में शामिल है।

कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि उनके निलाम्बुर में कोट्टाक्कल, मामबाड, एडवान्नापारा राहत शिविरों का दौरा करने की संभावना है। वह मलप्पुरम कलेक्ट्रेट में समीक्षा बैठक में भी शामिल हो सकते हैं। गांधी वायनाड में प्रभावित इलाकों का दौरा सोमवार को करेंगे।

पिछले दो दिन से बंद कोच्चि स्थित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आज दोपहर से विमानों का परिचालन फिर शुरू होगा।

दक्षिणी रेलवे ने रविवार को मंगलुरू - तिरुवनंतपुरम एक्सप्रेस, मावेली एक्सप्रेस, मालाबार एक्सप्रेस, कन्नूर-एर्नाकुलम इंटरसिटी एक्सप्रेस, एर्नाकुलम-बेंगलुरू इंटरसिटी एक्सप्रेस सहित 10 ट्रेनों को पूरी तरह रद्द कर दिया। उसने बताया कि सात ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है और दो ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है।

सेना, नौसेना, तटरक्षक बल, एनडीआरएफ, पुलिस बल, स्वयंसेवकों और मछुआरों समेत विभिन्न एजेंसियां बचाव कार्य में लगी हैं। केरल में पिछले साल भी भूस्खलन और बाढ़ से भारी तबाही मची थी। इसमें 400 से अधिक लोगों की जान गई थी और लाखों लोग बेघर हुए थे।

ये भी पढ़ें: बाढ़ से 4 राज्यों में अब तक 125 मरे, कर्नाटक को छह हजार करोड़ का नुकसान

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rains in Kerala continue Rahul to take stock of the situation in Vayanad