ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशट्रेनों में स्लीपर और जनरल कोच बढ़ाने की तैयारी, भीषण गर्मी के बीच रेली मंत्री ने दी बड़ी खुशखबरी

ट्रेनों में स्लीपर और जनरल कोच बढ़ाने की तैयारी, भीषण गर्मी के बीच रेली मंत्री ने दी बड़ी खुशखबरी

रेल मंत्री ने गर्मियों की भीड़ के दौरान ट्रेनों में भीड़भाड़ की समस्या का संज्ञान लिया। उन्होंने रेलवे अधिकारियों से भीड़भाड़ की समस्या के समाधान के लिए तत्काल कदम उठाने का आग्रह किया।

ट्रेनों में स्लीपर और जनरल कोच बढ़ाने की तैयारी, भीषण गर्मी के बीच रेली मंत्री ने दी बड़ी खुशखबरी
pti05-31-2024-000240b-0 jpg
Niteesh Kumarएजेंसी,नई दिल्लीSat, 15 Jun 2024 07:44 PM
ऐप पर पढ़ें

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने गर्मियों में यात्रियों को होने वाली दिक्कतों को देखते हुए अधिकारियों को युद्धस्तर पर काम करने के निर्देश दिए हैं। इनमें ट्रेनों में गैरवातानुकूलित स्लीपर व अनारक्षित श्रेणी के कोचों की संख्या बढ़ाना और वातानुकूलित कोचों में एयर कंडीशनिंग प्रणाली के खराब होने की शिकायतों को दूर करना शामिल है। रेलवे के सूत्रों के अनुसार रेल, सूचना एवं प्रसारण, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री वैष्णव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग की। इसमें रेलवे बोर्ड के सदस्य व दूसरे सीनियर अधिकारियों के साथ-साथ जोनल रेलवे के महाप्रबंधक और सभी मंडल रेल प्रबंधक शामिल हुए। इस दौरान यात्रियों की सुविधा के लिए प्राथमिकताएं तय कीं। 

मंत्री ने गर्मियों की भीड़ के दौरान ट्रेनों में भीड़भाड़ की समस्या का संज्ञान लिया। उन्होंने रेलवे अधिकारियों से भीड़भाड़ की समस्या के समाधान के लिए तत्काल कदम उठाने का आग्रह किया। सूत्रों ने बताया कि रेल मंत्री ने ट्रेनों में स्लीपर श्रेणी और जनरल कैटेगरी के कोचों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। इससे यात्रियों को सुगमता से यात्रा करने की सुविधा मिल सकेगी और वे उच्च श्रेणी कोचों में जबरन घुसने के लिए बाध्य नहीं होंगे। दूसरा- अत्यधिक तापमान और क्षमता से अधिक यात्रियों के सवार होने से एसी-3 और एसी-2 के कोचों में एयर कंडीशनर फेल हो रहे हैं। इससे वातानुकूलित श्रेणी के यात्रियों के लिए भी भारी मुश्किल हो रही है। 

'AC सिस्टम की ठीक से की जाए जांच' 
अश्विनी वैष्णण ने निर्देश दिए कि गाड़ियों के परिचालन के पहले AC सिस्टम की ठीक से जांच व जरूरी सर्विस की जाए। साथ ही, एसी में खराबी की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई की जाए। स्टेशन परिसरों व प्रतीक्षालयों में भी एसी पंखे आदि उपकरण सुचारु रूप में काम करें, यह सुनिश्चित किया जाए। सूत्रों के अनुसार ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा करने वालों को निचली श्रेणी के टिकट लेकर उच्च श्रेणी के कोच में सवार होने वालों पर कार्रवाई का अभियान चलाया जाए। रेल मंत्री ने सभी महाप्रबंधकों व डीआरएम को गाड़ियों के परिचालन में समयबद्धता सुनिश्चित की जाए ताकि यात्री समय पर गंतव्य पहुंच सकें। इससे भी वे गर्मी से बच सकें। 

'ट्रेनों का समय से चलाना जरूरी'
रेल मंत्री ने समय की पाबंदी पर जोर देते हुए कहा कि ट्रेनों का समय से चलाना होगा। समय की पाबंदी के मोर्चे पर, कुछ खास हिस्सों पर ट्रेन की देरी के मूल कारण का विश्लेषण करने का निर्देश दिया, जो समग्र समय की पाबंदी को प्रभावित करता है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि गाड़ी के परिचालन में अनुचित अवरोध स्वीकार्य नहीं होंगे। समयपालन के आंकड़ों की सख्ती से निगरानी की जानी चाहिए और समग्र समयपालन में सुधार किया जाना चाहिए। बैठक में रेल मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि सुरक्षा, संरक्षा एवं बुनियादी ढांचा सर्वोपरि है। इस मोर्चे पर कोई समझौता नहीं किया जा सकता। रेल अधिकारियों को तीनों बातों पर भी निरंतर जोर देते रहना होगा। बैठक में इन सभी बिन्दुओं पर गहनता से विस्तृत विचार मंथन किया गया।