ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश18वीं लोकसभा के पहले दिन दिखी भारत की विविधता, सांसदों ने अलग-अलग भाषाओं में ली शपथ; विपक्ष ने पहले दिन से ही संभाला मोर्चा

18वीं लोकसभा के पहले दिन दिखी भारत की विविधता, सांसदों ने अलग-अलग भाषाओं में ली शपथ; विपक्ष ने पहले दिन से ही संभाला मोर्चा

लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों ने सोमवार को जब शपथ ली तो भारत की भाषायी विविधता की झलक देखने को मिली। कई सदस्यों ने हिंदी में शपथ ली तो कई ने संस्कृत, असमिया, मैथिली, तेलुगू तथा पंजाबी में शपथ ली।

18वीं लोकसभा के पहले दिन दिखी भारत की विविधता, सांसदों ने अलग-अलग भाषाओं में ली शपथ; विपक्ष ने पहले दिन से ही संभाला मोर्चा
ani-20240624096-0 jpg
Upendra Thapakवार्ता,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 05:58 PM
ऐप पर पढ़ें

18वीं लोकसभा के पहले सत्र में आज जब नवनिर्वाचित सदस्यों ने शपथ ली तो भारत की भाषायी विविधता की झलक देखने को मिली। ज्यादातर सदस्यों ने हिंदी में शपथ ली तो कई सदस्यों ने असमिया, मैथिली, तेलुगू, संस्कृत, पंजाबी और अन्य भाषाओं में शपथ ली। सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने सदस्य के तौर पर हिन्दी में शपथ ली। इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उन्हें संविधान की प्रति दिखाई, जिसके बाद कई सांसदों ने 'जय श्री राम' के नारे लगाए। पीएम मोदी के अलावा कैबिनेट मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, अन्नपूर्णा देवी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, शिवराज सिंह चौहान और मनोहर लाल खट्टर ने हिंदी में शपथ ली।

नीट पेपर मामले में चर्चा में चल रहे ओडिशा के संबलपुर से सांसद और शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उड़िया भाषा में शपथ ली। जब वह शपथ लेकर उठे तो विपक्षी सदस्यों ने 'नीट-नीट' के नारे लगाए। तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के सदस्य राममोहन नायडू और भाजपा सांसद जी किशन रेड्डी ने तेलुगू भाषा में, जनता दल सेक्यूलर नेता  एच डी कुमारस्वामी और  प्रह्लाद जोशी ने कन्नड में, जुएल ओरांव ने उड़िया में, सी आर पाटिल ने गुजराती में और सर्वानंद सोनोवाल ने असमिया भाषा में शपथ ग्रहण की।

महाराष्ट्र से लोकसभा के सदस्य निर्वाचित प्रतापराव जाधव और रक्षा खडसे तथा मुरलीधर मोहोल ने मराठी भाषा में शपथ ली। कर्नाटक से लोकसभा की सदस्य निर्वाचित हुईं शोभा करंदलाजे और वी सोमन्ना ने कन्नड़ में शपथ ग्रहण की। पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत सुषमा स्वराज की पुत्री और नई दिल्ली लोकसभा सीट से भाजपा की सदस्य बांसुरी स्वराज ने संस्कृत भाषा में शपथ ली।

राज्य मंत्रियों चंद्रशेखर पेम्मासानी, बंडी संजय कुमार और भूपति राजू ने तेलुगू में शपथ ली। शांतनु ठाकुर और सुकांतो मजूमदार ने बांग्ला में तथा सुरेश गोपी ने मलयालम में शपथ ली।
गोवा से भाजपा के सदस्य श्रीपाद येसो नाइक और मध्य प्रदेश के बैतूल से सदस्य निर्वाचित हुए केंद्रीय आदिवासी कार्य राज्य मंत्री दुर्गादास उइके ने संस्कृत भाषा में शपथ ली।
अन्य सभी मंत्रियों ने हिंदी भाषा में शपथ ली और किसी भी मंत्री ने अंग्रेजी में शपथ ग्रहण नहीं की।

असम के धुबरी से कांग्रेस के रकीबुल हुसैन ने हाथ में संविधान की प्रति लेकर असमिया भाषा में शपथ ली। दरांग उदालगुड़ी से भाजपा सदस्य दिलीप सैकिया ने संस्कृत में शपथ ली, वहीं राज्य के दिफू से भाजपा सदस्य अमर सिंह टिसो ने अंग्रेजी में शपथ ली। बिहार के शिवहर से जनता दल (यूनाइटेड) की सांसद लवली आनंद, मधुबनी से भाजपा सांसद अशोक कुमार यादव, झंझारपुर से जदयू के रामप्रीत मंडल और दरभंगा से भाजपा सदस्य गोपालजी ठाकुर ने मैथिली भाषा में शपथ ली। तेलुगू देशम पार्टी के कृष्णा प्रसाद टेन्नेटी और भाजपा के चिंतामणि महाराज ने भी संस्कृत में शपथ ली। चंडीगढ़ से कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने पंजाबी भाषा में शपथ ली। आंध्र प्रदेश के अराकू संसदीय क्षेत्र से वाईएसआरसीपी की सदस्य गुम्मा तनुजा रानी ने हिंदी में शपथ ली।