ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशराहुल गांधी की यूपी यात्रा में होगी प्रियंका की एंट्री, क्या है रायबरेली से कनेक्शन?

राहुल गांधी की यूपी यात्रा में होगी प्रियंका की एंट्री, क्या है रायबरेली से कनेक्शन?

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में पहली बार प्रियंका गांधी भी शामिल हो सकती हैं। वह उत्तर प्रदेश में भाई के साथ दिखेंगी। इसका कनेक्शन रायबरेली से भी बताया जा रहा है।

राहुल गांधी की यूपी यात्रा में होगी प्रियंका की एंट्री, क्या है रायबरेली से कनेक्शन?
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊFri, 16 Feb 2024 07:28 AM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने वाली है। चंदौली को रास्ते राहुल गांधी की यात्रा करीब 3 बजे  बिहार से उत्तर प्रदेश में दाखिल होगी। आज से ही इस यात्रा में प्रियंका गांधी भी शामिल हो सकती हैं। बता दें कि शुक्रवार को राहुल गांधी वाराणसी में ही आराम करेंगे। यह यात्रा अमेठी और लखनऊ होकर गुजरेगी और अगले 6 दिनों में 13 जिलों को कवर करेगी। राहुल गांधी वाराणसी में काशी विश्वनाथ के दर्शन भी करेंगे। वहीं यात्रा में प्रियंका गांधी के शामिल होने की वजह से उनके रायबरेली सीट से लड़ने के भी कयास तेज हो गए हैं। बता दें कि सोनिया गांधी ने एक पत्र लिखकर बता दिया है कि वह रायबरेली सीट से लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगी। वहीं उन्होंने राजस्थान से राज्यसभा चुनाव का पर्चा भी दाखिल कर दिया है। 

जानकारों का कहना है कि अपनी मांग सोनिया गांधी की जगह प्रियंका गांधी रायबरेली सीट से लड़ सकती हैं। सोनिया गांधी ने रायबरेली की  जनता को एक भावुक पत्र लिखा था। उन्होंने पत्र में कहा, आज मैं जो कुछ भी हूं, आपकी ही वजह से हूं। लेकिन मेरी बढ़ती उम्र और बिगड़ते स्वास्थ्य की वजह से मैं अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ सकूंगी। उन्होंने रायबरेली की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि रायबरेली में उनके परिवार की जड़ें बेहद गहरी हैं। मुझे पता है कि आप भविष्य में भी हमारे परिवार के साथ खड़े रहेंगे। मैं इस फैसले के बाद सीधे आपकी सेवा नहीं कर पाऊंगी लेकिन मेरी आत्मा औऱ ह्रदय हमेशा आपके साथ रहेगा। 

बता दें कि कांग्रेस की यात्रा 19 फरवरी को अमेठी पहुंच सकती है। इसके अगले ही दिन यह रायबरेली में होगी। बीते दो साल से इन दोनों क्षेत्रों में ना तो राहुल गांधी पहुंचे हैं औऱ ना ही प्रियंका गांधी। राहुल गांधी ने 2014 में अमेठी से जीत दर्ज की थी। वहीं 2019 में स्मृति ईरानी के मुकाबले उनकी हार हुई। 22 फरवरी को यह यात्रा मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी। 


बता दें कि रायबरेली सीट 1952 से ही गांधी परिवार की परंपरागत सीट है। हालांकि इंदिरा गांधी को इस सीट से हार का सामना करना पड़ा था। आपातकाल के बाद हुए 1977 के चुनाव में वह राजनारायण के सामने 50 हजार वोट से हार गई थीं। पहली बार इस सीट पर फिरोज गांधी सांसद बने थे। इसके बाद 1962 में आरपी सिंह ने सीट पर कब्जा कर लिया। 1967 में फिर से यहां इंदिरा गांधी जीतीं। 1980 में फिर से नेहरू परिवार की शीला कौल ने यहां चुनाव जीता। इसके बाद गांधी परिवार के करीबी शतीश शर्मा इस सीट पर दो बार सांसद रहे। 1998 में इस सीट पर भाजपा भी कब्जा कर चुकी है। यहां से अशोक सिंह जीते थे। 1999 के बाद से सोनिया गांधी यहां से लगातार सांसद हैं। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें