ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशमेरी इमेज खराब करने में लगाए गए हजारों करोड़ रुपये, मुझे इससे और शक्ति मिलती गई: राहुल गांधी

मेरी इमेज खराब करने में लगाए गए हजारों करोड़ रुपये, मुझे इससे और शक्ति मिलती गई: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा, 'मैंने नियामगिरी का मुद्दा उठाया और भट्टा पारसौल का मुद्दा उठाया। मैंने भूमि अधिग्रहण को लेकर सवाल किए और देश के गरीबों के हितों की रक्षा के लिए उनके साथ खड़ा हुआ।'

मेरी इमेज खराब करने में लगाए गए हजारों करोड़ रुपये, मुझे इससे और शक्ति मिलती गई: राहुल गांधी
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 04 Dec 2022 05:43 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने मीडिया में बनी अपनी छवि को लेकर बात की है। उन्होंने कहा, 'जब मैं राजनीति में आया, 2004 से तकरीबन 2008-09 के बीच की बात है। उस समय हिन्दुस्तान का पूरा मीडिया 24 घंटे मेरी वाह-वाह करता था। याद है आपके? फिर मैंने दो मुद्दे उठाए। पहला मैंने नियामगिरी का मुद्दा उठाया और दूसरा भट्टा पारसौल का मुद्दा उठाया। जैसे ही मैंने भूमि अधिग्रहण को लेकर सवाल किए और देश के गरीबों के हितों की रक्षा के लिए उनके साथ खड़ा हुआ। तभी से यह मीडिया मेरे खिलाफ हो गया।'

राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर वीडियो पोस्ट किया है जिसका कैप्शन है- 'मेरी मीडिया छवि का सच क्या है?' कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कहते हैं, 'उन्होंने हजारों करोड़ रुपये मेरी इमेज को खराब करने में लगा दिए। लोग सचते हैं कि ये मेरे लिए नुकसानदायक है लेकिन इसकी खूबसूरती यह है कि ये काम नहीं करने वाला। सच कहीं न कहीं से उजागर हो ही जाता है। अब ये लोग जितना पैसा मेरी इमेज को खराब करने में लगाएंगे, उतनी ही शक्ति मुझे मिलती जाएगी। अगर आप बड़ी शक्तियों से लड़ोगे तो पर्सनल अटैक किया ही जाएगा।'

'गरीब की संपत्ति महाराजा को दी जा रही'
कांग्रेस सांसद ने कहा, 'हम आदिवासियों के लिए पेसा कानून लेकर आए। वन अधिकार कानून लाए। जमीन अधिकरण बिल लाए। इसके बाद ये सारे के सारे मेरे खिलाफ लिखना शुरू कर दिए। जो हिन्दुस्तान की संपत्ति थी वह संविधान के जरिए महाराजाओं से देश की जनता को दी गई। अब बीजेपी इसे उलटा कर रही है। आपकी संपत्ति को छिनकर फिर से महाराजाओं को देने की कोशिश हो रही है। अगर हिन्दुस्तान की जतना, गरीब लोग एक साथ खड़े हो जाएं तो यह काम बहुत आसान हो जाएगा। अगर ये लोग बिखरे रहे तो यह काम नामुमकिन है।'

वहीं, कांग्रेस ने रविवार को कहा कि 'भारत जोड़ो यात्रा' के बाद वह आगामी 26 जनवरी से देश भर में 'हाथ से हाथ जोड़ो अभियान' शुरू करेगी जिसके तहत ब्लॉक, पंचायत और बूथ स्तर पर जनसंपर्क किया जाएगा। पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि 'भारत जोड़ो यात्रा' के समापन के बाद आगामी 26 जनवरी से देश भर में 'हाथ से हाथ जोड़ो' अभियान शुरू किया जाएगा जिसके तहत ब्लॉक, पंचायत और बूथ के स्तर पर लोगों से संपर्क साधा जाएगा।