ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशब्लैक बॉक्स है, जांच की अनुमति नहीं; EVM खत्म करने की वकालत पर राहुल गांधी, एलन मस्क का समर्थन

ब्लैक बॉक्स है, जांच की अनुमति नहीं; EVM खत्म करने की वकालत पर राहुल गांधी, एलन मस्क का समर्थन

एलन मस्क की ईवीएम को खत्म किए जाने की सलाह ने भारत में नया राजनीतिक विवाद खड़ा कर दिया है। मस्क का समर्थन करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि यह एक ब्लैक बॉक्स है और किसी को भी इसकी जांच की अनुमति नहीं।

ब्लैक बॉक्स है, जांच की अनुमति नहीं; EVM खत्म करने की वकालत पर राहुल गांधी, एलन मस्क का समर्थन
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 16 Jun 2024 02:25 PM
ऐप पर पढ़ें

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को खत्म किए जाने वाली एलन मस्क की सलाह ने देश में नया राजनीतिक बवाल खड़ा कर दिया है। पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता राजीव चंद्रशेखर ने मस्क पर निशाना साधा और कहा कि सुरक्षित डिडिटल हार्डवेयर बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मस्क के विचार अमेरिका या अन्य जगहों के लिए होंगे लेकिन, भारत के लिए गलत है। विवाद में नई एंट्री कांग्रेस नेता राहुल गांधी की हुई है। उन्होंने मस्क के दावों का समर्थन करते हुए कहा कि भारत में ईवीएम एक ब्लैक बॉक्स है और किसी भी को भी उसकी जांच की अनुमति नहीं है। 

इससे पहले दिग्गज अरबपति और X के मालिक एलन मस्क ने सोशल मीडिया पोस्ट पर ईवीएम को लेकर गहरी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि इंसानों या एआई द्वारा इसके हैक किए जाने का जोखिम है, इसलिए इसे खत्म कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह तब भी होना चाहिए तब इसका जोखिम कम से कम हो।

एलन मस्क की इस पोस्ट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव चन्द्रशेखर ने सामने आए और मस्क की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कहा कि यह बिना किसी आधार का दिया बयान है। पूर्ववर्ती सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के राज्य मंत्री रह चुके चंद्रशेखर ने कहा कि यह बहुत सामान्य कथन है। इसका सीधा सा अर्थ है कि कोई भी सुरक्षित डिजिटल हार्डवेयर नहीं बना सकता है। यह गलत है। एलोन मस्क का विचार अमेरिका और अन्य स्थानों पर लागू हो सकता है, जहां पर इंटरनेट से जुड़ी वोटिंग मशीनें बनाने के लिए कंप्यूटर प्लेटफॉर्म का उपयोग किया जाता है। लेकिन भारतीय ईवीएम इससे बिल्कुल अलग हैं। ये कस्टम डिजाइन किए गए हैं , किसी भी नेटवर्क से सुरक्षित हैं। इसमें न कोई कनेक्टिविटी है, न कोई ब्लूटूथ, वाईफाई, इंटरनेट कुछ भी नहीं। साफ है कि ईवीएम को हैक करने का कोई रास्ता नहीं है। 

चंद्रशेखर ने मस्क को भारत में डिज़ाइन की गई ईवीएम की मजबूती का प्रदर्शन करने वाला एक ट्यूटोरियल देने की भी पेशकश की। उन्होंने कहा, "भारत में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को कैसे तैयार किया जाता है, हमें एलन मस्क को ट्यूटोरियल देने में खुशी होगी।"

राहुल गांधी भी विवाद में कूदे
ईवीएम को लेकर शुरू हुए इस विवाद में अब कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी कूद गए हैं। उन्होंने इस मामले पर मस्क के विचार का समर्थन किया है। उन्होंने ईवीएम को ब्लैक बॉक्स कहा है। एक्स पर एक पोस्ट में, राहुल गांधी ने कहा, "भारत में ईवीएम एक 'ब्लैक बॉक्स' है और किसी को भी उसकी जांच करने की अनुमति नहीं है। हमारी चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता को लेकर गंभीर चिंताएं जताई जा रही हैं। लोकतंत्र एक दिखावा बनकर रह गया है और जब संस्थानों में जवाबदेही की कमी हो तो धोखाधड़ी का खतरा है।" 

बता दें कि हाल ही संपन्न हुए लोकसभा चुनाव के दौरान विपक्षी दलों ने भाजपा पर चुनाव परिणाम अपने पक्ष में करने के लिए ईवीएम से छेड़छाड़ की संभावना जताई थी। हालांकि जवाब में मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा था कि ईवीएम 100 फीसदी सुरक्षित है।