ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशबधाई संदेशों में इतने व्यस्त पीएम मोदी, नहीं सुनाई दे रही रियासी की चीखें: राहुल गांधी

बधाई संदेशों में इतने व्यस्त पीएम मोदी, नहीं सुनाई दे रही रियासी की चीखें: राहुल गांधी

जम्मू कश्मीर में तीन दिनों में हुए तीन आतंकी हमलों के बाद राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि पीएम को श्रद्धालुओं के परिवारों की चीखें तक नहीं सुनाई दे रही है।

बधाई संदेशों में इतने व्यस्त पीएम मोदी, नहीं सुनाई दे रही रियासी की चीखें: राहुल गांधी
congress leaders rahul gandhi
Jagritiलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 01:49 PM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू कश्मीर में पहले रियासी और अब कठुआ और डोडा में तीन दिनों में तीन आतंकी हमलों से देश सकते में है। इन हमलों में भारत के कम से कम छह जवान घायल हो चुके हैं। अब राहुल गांधी ने इन हमलों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी को लेकर उनपर निशाना साधा है। सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर एक पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा, “बधाई संदेशों का जवाब देने में व्यस्त नरेंद्र मोदी को जम्मू-कश्मीर में निर्ममता से मौत के घाट उतार दिये गए श्रद्धालुओं के परिवारों की चीखें तक नहीं सुनाई दे रही हैं। रियासी, कठुआ और डोडा में पिछले 3 दिनों में 3 अलग-अलग आतंकी घटनाएं हुई हैं लेकिन प्रधानमंत्री अब भी जश्न में मग्न हैं।” उन्होंने आगे लिखा, “देश जवाब मांग रहा है। आखिर भाजपा सरकार में आतंकी हमलों की साजिश रचने वाले पकड़े क्यों नहीं जाते?”

राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी पीएम को निशाने पर लिया है। कांग्रेस की ओर से एक बयान को जारी करते हुए उन्होंने कहा, “जम्मू-कश्मीर में 3 दिन में 3 आतंकी हमले हुए। प्रधानमंत्री मोदी की नजर रियासी पर क्यों नहीं है? उन्होंने पाकिस्तानी नेताओं को ट्वीट कर जवाब दिया, लेकिन क्रूर आतंकी हमलों की निंदा करने का उन्हें समय नहीं मिला। पिछले 10 सालों में मोदी सरकार की झूठी छाती ठोकने की वजह से राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचा है, जबकि निर्दोष लोग कायरतापूर्ण आतंकी हमलों के शिकार हुए हैं, लेकिन सबकुछ पहले जैसा ही चल रहा है।”

बता दे कि 9 जून को रियासी के शिवखोड़ी धाम में दर्शन कर लौट रहे श्रद्धालुओं पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। इस हमले में 9 लोगों की मौत हो गई थी और 33 लोग घायल भी हो गए थे। आतंकियों ने बस पर अचानक फायरिंग शुरू कर दी थी। इससे बस ड्राइवर को संभलने का मौका नहीं मिला और बस खाई में गिर गई थी। इसके एक दिन बाद ही कठुआ में भी आतंकियों ने फायरिंग की थी जिसमें जवानों ने एक आतंकी को मार गिराया था। मंगलवार को डोडा में आतंकियों ने सेना के बेस को निशाना बनाया। मुठभेड़ में कम से कम पांच जवान घायल हो गए हैं।