DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव बाद बीजेपी के साथ जाएंगे अखिलेश-मायावती? जानें इस सवाल पर राहुल गांधी ने क्या कहा

rahul gandhi address public meeting in ujjain mp   congress twitter may 14  2019

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव बाद गठबंधन की संभावना की ओर संकेत देते हुए शुक्रवार को उम्मीद जताई कि मायावती और अखिलेश यादव भाजपा के साथ नहीं जाएंगे.  राहुल गांधी ने यह भी कहा कि चुनाव बाद संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी के अनुभव का फायदा उठाया जाएगा। बता दें कि 19 मई को होने वाले आखिरी चरण के मतदान के लिए आज चुनाव प्रचार थम गया।

लोकसभा चुनाव का प्रचार थमने से पहले राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गठबंधन के सवाल पर संवादाताओं से कहा, ''मुझे नहीं लगता कि मायावती, अखिलेश या (तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू) नायडू भाजपा के साथ जाएंगे।'' उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ''सोनिया गांधी जी और मनमोहन सिंह जी का बहुत अनुभव है। मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूँ कि अनुभवी लोगों दरकिनार कर दूं। हम सोनिया जी के अनुभव का फायदा उठाएंगे।''

यह भी पढ़ें: सपने देखना गलत नहीं, झूठे सपने दिखाना बुरी बात है : प्रियंका गांधी

प्रधानमंत्री पद के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, ''मैंने बहुत स्पष्ट किया है। 23 मई को जनता जो भी फैसला करेगी हम मानेंगे। उससे पहले कुछ नहीं कहेंगे। इसके अलावा, राहुल गांधी ने कहा कि हमने नरेंद्र मोदी के लिए 90 फीसदी दरवाजे बंद कर दिए हैं; विरोधियों को गाली देकर उन्होंने खुद ही अपने 10 फीसदी रास्ते बंद कर दिए।

यह भी पढ़ें: राहुल ने प्रेस ब्रीफिंग में चुनाव आयोग पर साधा निशाना, 10 बातें

राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी को सत्ता से बेदखल करने के लक्ष्य के साथ कांग्रेस, बसपा और सपा वैचारिक तौर पर एक ही धारा में हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टी के तौर पर कांग्रेस की भूमिका 'ए ग्रेड की रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rahul Gandhi says Akhilesh Mayawati will not go with BJP after Lok Sabha Election 2019