ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशराहुल गांधी ने स्वीकार किया फेस-टू-फेस बहस का न्योता, अब पीएम मोदी के पाले में गेंद

राहुल गांधी ने स्वीकार किया फेस-टू-फेस बहस का न्योता, अब पीएम मोदी के पाले में गेंद

राहुल गांधी ने लिखा, 'हमारी संबंधित पार्टियों पर लगाए गए किसी भी निराधार आरोप पर लगाम लगाना भी महत्वपूर्ण है। चुनाव लड़ने वाली प्रमुख पार्टियों के रूप में जनता सीधे अपने नेताओं से सुनने की हकदार है।'

राहुल गांधी ने स्वीकार किया फेस-टू-फेस बहस का न्योता, अब पीएम मोदी के पाले में गेंद
Niteesh Kumarएजेंसी,नई दिल्लीSat, 11 May 2024 09:43 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव पर सार्वजनिक बहस के लिए निमंत्रण का स्वागत किया है। उन्होंने शनिवार को कहा कि उन्हें या पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खरगे को ऐसी चर्चा में भाग लेने में खुशी होगी और उन्होंने उम्मीद जताई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इसमें भाग लेंगे। राहुल ने सोशल मीडिया मंच एक्स पर पोस्ट में कहा, 'स्वस्थ लोकतंत्र के लिए प्रमुख दलों का एक मंच से अपना दृष्टिकोण देश के समक्ष रखना एक सकारात्मक पहल होगी।' उन्होंने यह भी कहा कि देश प्रधानमंत्री से भी इस संवाद में हिस्सा लेने की अपेक्षा करता है।

कांग्रेस नेता ने एक्स पर जस्टिस (रिटायर्ड) मदन बी. लोकुर, जस्टिस (रिटायर्ड) अजीत पी. शाह और एन. राम को अपना जवाब साझा किया, जिन्होंने इस सप्ताह की शुरुआत में उन्हें और प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर प्रमुख चुनावी मुद्दों पर बहस के लिए एक मंच पर आमंत्रित किया था। देश के नेताओं को संबोधित अपने पत्र में तीनों ने कहा था कि बहस का प्रस्ताव गैर-पक्षपातपूर्ण और प्रत्येक नागरिक के व्यापक हित में है। राहुल ने कहा कि उन्होंने खरगे के साथ निमंत्रण पर चर्चा की। वे इस बात पर सहमत हुए कि इस तरह की बहस से लोगों को हमारे संबंधित दृष्टिकोण को समझने में मदद मिलेगी और वे एक सही विकल्प चुनने में सक्षम होंगे।

'जनता सीधे अपने नेताओं से सुनने की हकदार'
निमंत्रण के जवाब में लिखे गए अपने पत्र में राहुल गांधी ने लिखा, 'हमारी संबंधित पार्टियों पर लगाए गए किसी भी निराधार आरोप पर लगाम लगाना भी महत्वपूर्ण है। चुनाव लड़ने वाली प्रमुख पार्टियों के रूप में जनता सीधे अपने नेताओं से सुनने की हकदार है। इसलिए या तो मुझे या कांग्रेस अध्यक्ष को ऐसी बहस में भाग लेने में खुशी होगी।' पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने यह भी कहा कि वह सार्थक और ऐतिहासिक बहस में भाग लेने के लिए उत्सुक हैं। उन्होंने कहा कि कृपया हमें बताएं कि क्या प्रधानमंत्री भाग लेने के लिए सहमत हैं, जिसके बाद हम बहस के विवरण और प्रारूप पर चर्चा कर सकते हैं।

राहुल गांधी ने पत्र के साथ एक्स पर अपनी पोस्ट में कहा, 'कांग्रेस इस पहल का स्वागत करती है और चर्चा का निमंत्रण स्वीकार करती है। देश प्रधानमंत्री जी से भी इस संवाद में हिस्सा लेने की अपेक्षा करता है।' शुक्रवार को लखनऊ में एक कार्यक्रम में राहुल ने दर्शकों में से एक के सवाल का जवाब दिया था। उन्होंने कहा कि वह बहस में मोदी का मुकाबला करने के लिए शत-प्रतिशत तैयार हैं। उन्हें पता था कि प्रधानमंत्री सहमत नहीं होंगे। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें