ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपहले रामलला के दर्शन, फिर नामांकन? अमेठी, रायबरेली से पहले अयोध्या जा सकते हैं राहुल-प्रियंका

पहले रामलला के दर्शन, फिर नामांकन? अमेठी, रायबरेली से पहले अयोध्या जा सकते हैं राहुल-प्रियंका

अमेठी और रायबरेली जाने से पहले राम लला से आशीर्वाद लेने के लिए प्रियंका और राहुल गांधी अयोध्या की संभावित यात्रा कर सकते हैं। हालांकि, इस घटनाक्रम की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

पहले रामलला के दर्शन, फिर नामांकन? अमेठी, रायबरेली से पहले अयोध्या जा सकते हैं राहुल-प्रियंका
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 25 Apr 2024 12:41 AM
ऐप पर पढ़ें

Rahul Gandhi Priyanka Gandhi News: अमेठी और रायबरेली में रैलियां करने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन कर सकते हैं। राहुल गांधी फिलहाल केरल की वायनाड सीट से कांग्रेस के लोकसभा उम्मीदवार हैं। वायनाड लोकसभा सीट पर दूसरे चरण में यानी 26 अप्रैल को चुनाव होगा। वायनाड से मौजूदा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी का मुकाबला भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) की नेता एनी राजा से है। वायनाड सीट पर मुकाबला खत्म होने के साथ, अब सभी की निगाहें उत्तर प्रदेश के रायबरेली और अमेठी पर होंगी। 

अमेठी और रायबरेली जाने से पहले अयोध्या जाने की योजना?

इंडिया टुडे ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी के अमेठी और रायबरेली जाने से पहले अयोध्या जाने और राम मंदिर में प्रार्थना करने की संभावना है। बता दें कि कांग्रेस ने अभी तक अपने पुराने 'गढ़' अमेठी और रायबरेली के लिए उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है। ऐसे में कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि इस बात की प्रबल संभावना है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा इन निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ सकते हैं। अमेठी और रायबरेली निर्वाचन क्षेत्रों के लिए नामांकन प्रक्रिया एक ही दिन, 26 अप्रैल से शुरू होने वाली है।  

भाई-बहन का होगा बैक-टू-बैक नामांकन?

रिपोर्ट के मुताबिक, इस मोर्चे पर कोई भी औपचारिक घोषणा 30 अप्रैल से पहले नहीं हो सकती है, लेकिन पार्टी हलकों में अटकलें तेज हैं। ऐसे में नामांकन से पहले प्रियंका और राहुल अयोध्या जा सकते हैं जिसके बाद दोनों भाई-बहन बैक-टू-बैक नामांकन दाखिल कर सकते हैं। 3 मई नामांकन का आखिरी दिन है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने संकेत दिया कि अगर दोनों नेता चुनाव लड़ने का फैसला करते हैं तो बैक-टू-बैक नामांकन किया जाएगा।

सूत्रों ने संकेत दिया है कि अमेठी और रायबरेली से नामांकन दाखिल करने से पहले राम लला से आशीर्वाद लेने के लिए प्रियंका और राहुल गांधी अयोध्या की संभावित यात्रा कर सकते हैं। हालांकि, इस घटनाक्रम की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। ज्ञात हो कि इसी साल 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए कांग्रेस के नेताओं को आमंत्रित किया गया था। हालांकि कांग्रेस का कोई बड़ा नेता इसमें शामिल नहीं हुआ था। भाजपा प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण ठुकराने के लिए कांग्रेस पर खूब हमलावर है और इसके नेता चुनावी सभाओं में भी इसका जिक्र करते हैं। 

पहले अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन करो- शाह

आज ही (बुधवार, 24 अप्रैल) को अमरावती लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार नवनीत राणा के लिए चुनाव प्रचार करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि राम मंदिर समारोह के लिए राहुल गांधी को आमंत्रित किया गया था, लेकिन वह भी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए। शाह ने कहा, ‘‘राहुल गांधी ने हाल में अमरावती का दौरा किया था। लेकिन, अमरावती में आपकी (राहुल) कोई नहीं सुनेगा, आपको पहले अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन करने चाहिए, तभी देश में आपकी बात सुनी जाएगी।’’